Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
फ्रंटलाइन वर्कर तथा वरिष्ठ नागरिकों से कोविड-19 की प्रिकॉशन डोज लगवाने की अपील रोटरी मण्डल 3120 के सहायक मण्डलाध्यक्ष बने आशीष श्रीवास्तव वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दी गई स्वीप, शिकायत, मीडिया मानीटरिंग, एनवीडी के संबंध में विस्तार ... 23 जनवरी को दो पालियों में करायी जायेंगी टेट की परीक्षा सांस से सम्बन्धित कोविड मरीजों के लिए लाभकारी है चेस्ट फिजियोथैरेपी एक दिन में कोरोना संक्रमण के 17,776 नये मामले आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर यूपी मे अब तक 167 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज घर से नाराज़ होकर मुंबई पहुंच गई बालिका को सीडब्लयूसी ने उसके पिता को सौंपा विधान सभा चुनाव को लेकर बैठक मे सौंपी गई जिम्मेदारियां गृह भ्रमण कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता देंगी पांच सेवाएं

हनुमानगंज में फर्जी आधारकार्ड पर मतदान का आरोप

 

पुर्न मतदान कराने की मांग

बस्ती। रूधौली विकास खण्ड के ग्राम पंचायत हनुमानगंज के निवासी नीरज जायसवाल ने जिला निर्वाचन अधिकारी सहित अनेक उच्चाधिकारियांें को रजिस्टर्ड पत्र भेजकर आरोप लगाया है कि फर्जी आधारकार्ड के आधार पर मतदान कराकर उनकी पत्नी प्रत्याशी पूनम जायसवाल को षड़यंत्रपूर्वक 89 मतों से पराजित करा दिया गया। मांग किया है कि चुनाव की निष्पक्षता के लिये पुनः मतदान कराया जाय और फर्जी आधारकार्ड बनाने वाले जिन्हें मतदान के दिन रूधौली पुलिस ने पकड़ा और बाद में छोड़ दिया गया उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाय।
भेजे पत्र में नीरज जायसवाल ने कहा है कि मतदान के दिन 29 अप्रैल को उनकी भाभी का अचानक निधन हो गया। उनकी पत्नी पूनम जायसवाल ग्राम प्रधान पद की प्रत्याशी थी, शोकाकुल परिवार अंतिम संस्कार कराने में व्यस्त हो गया इस बीच विजयी प्रत्याशी अंजुम खातून और उनके समर्थकों ने फर्जी आधारकार्ड बनवाकर मतदान कराया जिसके आधार पर वह चुनाव जीत गई। फर्जी आधारकार्ड बनवाकर मतदान कराये जाने की सूचना उसी दिन रूधौली पुलिस को फोन से दिया गया। पुलिस ने दो लोगों को मौके से पकडा, उन्हें थाने ले गई और न जाने किन परिस्थितियों में पुलिस ने दो दिन बाद उन्हें छोड़ दिया। नीरज जायसवाल और ग्राम पंचायत हनुमानगंज के मतदाताओं ने मांग किया है कि यहां पुनः मतदान सुनिश्चित कराया जाय।

Leave A Reply

Your email address will not be published.