Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

जिला अस्पताल मे फर्श पर लिटा कर किया जा रहा है इलाज, यह दृश्य देख बिफरे रूधौली विधायक

बस्ती। रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल मंगलवार को शाम संक्रमित मरीजों के इलाज का सच देखने जिला चिकित्सालय पहुंच गये। विधायक ने वहां मानवीय संवेदनाओं को कुचलने वाला दृश्य देख अचम्भित हो गये। वार्डों मे व्याप्त गंदगी और वहां मरीजों को फर्श पर लिटाकर इलाज किया जा रहा था। इस अव्यवस्था से दुखी विधायक श्री जायसवाल ने वीडियो कॉल करके डीएम सौम्या अग्रवाल को हकीकत से अवगत कराया।
मंगलवार को शाम रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल जिला अस्पताल में पहुंचे वहा की अव्यवस्था देखकर अवाक् रह गए। वे कोविड का टीका लगवाने जिला अस्पताल गये थे। अस्पताल में मरीजों की दुर्दशा देखकर अपने आप को रोक न सके। सबसे पहले जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर, कोविड वार्ड सहित अन्य वार्डों को देखा। इसके पश्चात् विधायक श्री जायसवाल निर्माणाधीन आक्सीजन प्लांट के प्रगति को भी देखा। निरीक्षण मे मौजूद उपजिलाधिकारी सदर आशाराम वर्मा को व्यवस्था को सुधारने और संक्रमित मरीजों का बिना हीला हवाली के इलाज कराने का निर्देश दिया।
कई मरीजो के परिजनों ने आक्सीजन न मिलने के शिकायत किया। इस पर विधायक ने एसडीएम सदर को निर्देश दिया कि यहां इलाज मे किन संसाधनों की कमी है उसकी सूची उपलब्ध करायें। जिससे शासन को पत्र प्रेषित किया जा सके। वही वार्ड का आक्सीमीटर खराब था किसी का सही रीडिंग नही बता रहा था। विधायक ने अपना आक्सीजन नामा 77 बताया जबकि भर्ती मरीज का 99 बता रहा था। जिसको लेकर सीएसएस को मानवीय संवेदना के साथ काम करने की नसीहत दी। वही जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों को रोज इलाज के लिए कठिनाईयो का समाना करना पड़ रहा है। घंटो इंतजार के बाद मरीज को भर्ती किया जा रहा है। इस पर मरीज तो जैसे तैसे समय काट ले रहे हैं, लेकिन वार्ड और अस्पताल में फैली गंदगी मरीजों और उनके तीमारदारों की जान जोखिम में रहती है। विधायक ने तीमारदारों की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उन्होेंने सम्बन्धित जिम्मेदारों को फटकार लगाई।