Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सिद्वार्थनगर पहुंची राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, कार द्वारा बौद्ध तीर्थ लुम्बिनी के लिए प्रस्था... मनरेगा से स्वीकृत 24 में से मात्र 08 कार्य पूर्ण होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त किया असंतोष बैठक मे लिया गया मशरूम तथा काला नमक की खेती को बढावा देने का लिए निर्णय टेढे-मेढे पैर वाले बच्चो के उपचार के लिए की जायेंगी परिवारों की काउंसलिंग 40 दिव्यांगजनो को मिला ट्राईसाइकिल मार्ग दुर्धटना मे घायल हे0कां0 गोविन्द कुमार की मौत, पार्थिव शरीर को एसपी ने दी सलामी कांग्रेस जिला कार्यकारिणी का विस्तार, उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष घोषित अधिवक्ता दिवस के रूप में प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद को जयन्ती पर किया नमन् जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद फोकस्ड सैम्पलिंग के जरिए माप रहे कोरोना का प्रभाव

जिला अस्पताल मे फर्श पर लिटा कर किया जा रहा है इलाज, यह दृश्य देख बिफरे रूधौली विधायक

बस्ती। रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल मंगलवार को शाम संक्रमित मरीजों के इलाज का सच देखने जिला चिकित्सालय पहुंच गये। विधायक ने वहां मानवीय संवेदनाओं को कुचलने वाला दृश्य देख अचम्भित हो गये। वार्डों मे व्याप्त गंदगी और वहां मरीजों को फर्श पर लिटाकर इलाज किया जा रहा था। इस अव्यवस्था से दुखी विधायक श्री जायसवाल ने वीडियो कॉल करके डीएम सौम्या अग्रवाल को हकीकत से अवगत कराया।
मंगलवार को शाम रूधौली विधायक संजय प्रताप जायसवाल जिला अस्पताल में पहुंचे वहा की अव्यवस्था देखकर अवाक् रह गए। वे कोविड का टीका लगवाने जिला अस्पताल गये थे। अस्पताल में मरीजों की दुर्दशा देखकर अपने आप को रोक न सके। सबसे पहले जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर, कोविड वार्ड सहित अन्य वार्डों को देखा। इसके पश्चात् विधायक श्री जायसवाल निर्माणाधीन आक्सीजन प्लांट के प्रगति को भी देखा। निरीक्षण मे मौजूद उपजिलाधिकारी सदर आशाराम वर्मा को व्यवस्था को सुधारने और संक्रमित मरीजों का बिना हीला हवाली के इलाज कराने का निर्देश दिया।
कई मरीजो के परिजनों ने आक्सीजन न मिलने के शिकायत किया। इस पर विधायक ने एसडीएम सदर को निर्देश दिया कि यहां इलाज मे किन संसाधनों की कमी है उसकी सूची उपलब्ध करायें। जिससे शासन को पत्र प्रेषित किया जा सके। वही वार्ड का आक्सीमीटर खराब था किसी का सही रीडिंग नही बता रहा था। विधायक ने अपना आक्सीजन नामा 77 बताया जबकि भर्ती मरीज का 99 बता रहा था। जिसको लेकर सीएसएस को मानवीय संवेदना के साथ काम करने की नसीहत दी। वही जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों को रोज इलाज के लिए कठिनाईयो का समाना करना पड़ रहा है। घंटो इंतजार के बाद मरीज को भर्ती किया जा रहा है। इस पर मरीज तो जैसे तैसे समय काट ले रहे हैं, लेकिन वार्ड और अस्पताल में फैली गंदगी मरीजों और उनके तीमारदारों की जान जोखिम में रहती है। विधायक ने तीमारदारों की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उन्होेंने सम्बन्धित जिम्मेदारों को फटकार लगाई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.