Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
जयंती पर याद किये गये किशोर कुमार, कलाकारों ने गीतों से बांधा समा छह अस्पतालों को मिली कायाकल्प अवार्ड की सौगात जनेश्वर मिश्र के जन्म दिन पर समाजवादियों ने निकाली साईकिल यात्रा दुर्भावना से ग्रस्त होकर भाजपा ने रोकी थी केजरीवाल सरकार की डोर डिलिवरी योजना 7 अगस्त को वितरित किया जायेगा दिव्यांगजनों को सहायता उपकरण जिले के 01 लाख 33 हजार व्यक्तियों को मिला अन्न योजना का लाभ कांग्रेस पिछड़ा वर्ग ने पद यात्रा निकालकर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन पंचायत अध्यक्ष संजय ने पात्रों में किया अनाज का वितरण साईकिल यात्रा निकालकर समाजवादियों ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना अन्न महोत्सव मंें विधायक संजय ने गिनाई उपलब्धियां

योग मनुष्य को देता है स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवनः सांसद

वर्ष का सबसे बड़ा दिन 21 जून विश्व योग दिवस

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। 7 वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस प्रति वर्ष की भांति विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के बैनर तले ऑनलाइन हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री एवं सांसद माननीय हरीश द्विवेदी के कर कमलों द्वारा डॉ रमेश चंद्र के माध्यम से योगदीप प्रज्वलित करके किया गया।
उन्होंने योग को घर घर पहुंचाने के लिए अपील की और सभी को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं और आशीर्वाद दिया। यह दिन वर्ष का सबसे बड़ा दिन होता है और इसी तिथि को आदियोगी भगवान शिव ने सप्तर्षियों को योग की शिक्षा दी थी। योग मनुष्य को स्वास्थ्य एवं दीर्घायु जीवन प्रदान करता है। यह कार्यक्रम प्रयागराज से उत्तर प्रदेश अध्यक्षा प्रोफेसर डॉ अर्चना दुबे एवं अंतर्राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर डॉ नवीन सिंह द्वारा ऑनलाइन प्रसारित किया गया। आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए 45 मिनट के योगा प्रोटोकोल को विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगाचार्य डॉक्टर रमेश चंद्रा द्वारा प्रस्तुत किया गया। उन्होंने सभी लोगों को बताया आज के दौर में योग का बहुत महत्व है इसलिए अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए और अपनी इम्यूनिटी प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने के लिए अपने आहार बिहार और दिनचर्या को नियमित करते हुए प्रति दिन योग प्राणायाम करें तो निश्चित रूप से हम स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवन जी सकते हैं। योग के चार स्तंभ है आहार, निद्रा संयम, एवं शारीरिक श्रम, इन्हीं चार स्तंभों पर हमारा योग टिका है। प्रोटोकॉल में प्रार्थना, ग्रीवा संचालन, स्कंद संचालन ,घुटना संचालन,आसनों मे ताड़ासन ,वृक्षासन ,पादासन, त्रिकोणासन, वज्रासन, उष्ट्रासन, मंडूकासन, वक्रासन ,भुजंगासन, शलभासन, उत्तानपादासन, पवनमुक्तासन आसन, और प्राणायाम में कपालभाति अनुलोम विलोम शीतली भ्रामरी और अंत में ध्यान करा कर संकल्प दिलाते हुए शांति पाठ के साथ समाप्त हुआ। पूरे विश्व के 36 देशों में विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के तत्वावधान में वर्चुअल ऑनलाइन फेसबुक यूट्यूब इंस्टाग्राम एवं ट्विटर पर प्रसारित हुआ यह कार्यक्रम अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ श्याम पचैरी जी के नेतृत्व में किया गया। कार्यक्रम का संचालन बहन अर्चना दुबे ने बहुत ही मनमोहक अंदाज में किया।विश्व संवाद परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर प्रोफेसर डॉ नवीन सिंह एवं उत्तर प्रदेश अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ अर्चना दुबे जी ने कार्यक्रम से जुड़े लोगों को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में राम मोहन पाल संगीता यादव राजेश जी ,मनोज, डॉ सूर्यनाथ प्रजापति, अभिषेक ,सरिता पटेल ,निर्मला पांडे, सुमित रंजीत,किरण रावत सारांश आरती सहित अनेकों लोग जुड़े थे। कुछ लोगों ने वर्चुअली शुभकामनाएं और बधाई भी दी ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.