Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
टोल प्लाजा के अलावा अन्य सर्विस रोड पर वाहनों से वसूली पर तत्काल प्रतिबंध लगाने के लिए डीएम ने दिया ... बहू की प्रताड़ना से परेशा बुजुर्ग दम्पति ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार जर्जर सड़क निर्माण की मांग को लेकर बबिता शुक्ला ने सौंपा ज्ञापन ग्राम पंचायतां में कराये गये कार्यो में अनियमितता पाये जाने पर दुरूपयोग की गयी धनराशि की वसूली तथा उ... सिचाई बन्धु की बैठक मे विकास कार्यों पर हुई चर्चा विधायक संजय ने चौपाल में गिनाई उपलब्धियां, प्राथमिक शिक्षा  को बेहतर बनाने पर जोर ग्राम पंचायतों मे हुए गबन पर प्रधान व सिक्रटरी पर गिरी डीएम के कार्रवाई की गाज, वसूली के आदेश स्थायी लोक अदालत के गठन क्षेत्राधिकार तथा कार्य शैली का विस्तृत प्राविधान स्काउट गाइड का प्रयास सराहनीय- नीता यादव विकास कार्यो की समीक्षा बैठक मे डीएम ने दिए गोल्डेन कार्ड बनवाने में तेजी लाने के निर्देश

कोविड काल में उत्कृष्ट योगदान देने वाले 25 कोरोना योद्धा सम्मानित

परिवार नियोजन सेवाओं में गुणात्मक सुधार पर मंथन

स्वयंसेवी संस्था पीएसआई-टीसीआईएचसी के सहयोग से  कार्यशाला आयोजित

कबीर बस्ती न्यूज,गोरखपुर। उ0प्र0

स्वास्थ्य विभाग ने सभी 23 शहरी स्वास्थ्य केंद्रों के लिए परिवार नियोजन कार्यक्रमों पर अध्ययन आधारित कार्यशाला का आयोजन एक निजी होटल में गुरुवार की देर शाम किया, जिसमें  परिवार नियोजन सेवाओं में गुणात्मक सुधार पर मंथन हुआ । कार्यशाला का आयोजन स्वयंसेवी संस्था पापुलेशन इंटरनेशनल सर्विसेज (पीएसआई)-द चैलेंज इनिशिएटिव ऑफ हेल्दी सिटीज (टीसीआईएचसी) के सहयोग से किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने इस अवसर पर 25 कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया ।

कार्यक्रम में पीएसआई-टीसीआईएचसी संस्था के स्टेट प्रोग्राम मैनेजर अमित कुमार ने शहरी क्षेत्र में कार्य के दौरान के निष्कर्षों और चुनौतियों पर प्रस्तुतीकरण दिया । अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (परिवार कल्याण) डॉ. नंद कुमार ने बताया कि कार्यशाला के जरिये उन बिन्दुओं  के बारे में जानकारी हुई जिन्हें दूर कर  गुणात्मक सेवाएं दी जा सकती हैं । शहरी क्षेत्र के बारे में एक सबसे अच्छा निष्कर्ष यह निकल कर आया है कि जिन लाभार्थियों ने परिवार नियोजन सेवाएं प्राप्त की हैं वह पुनः शहरी स्वास्थ्य केंद्रों से सेवा पाने की इच्छुक हैं । कार्यक्रम के दौरान डिवीजनल कार्यक्रम प्रबंधक अरविंद पांडेय, शाहपुर शहरी स्वास्थ्य केंद्र की प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. हरप्रित जोगिंदर पाल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक पंकज आनंद और शहरी स्वास्थ्य समन्वयक सुरेश सिंह चौहान ने परिवार नियोजन और किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रमों में गुणात्मक सुधार की अपेक्षाएं बताईं और समुदाय तक प्रभावी संदेश पहुंचाने पर जोर दिया ।

इस अवसर पर अलग-अलग शहरी स्वास्थ्य केंद्रों की प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. पल्लवी श्रीवास्तव, डॉ. हरप्रित, डॉ. शालिनी, डॉ. दिशा, डॉ. सदाब परवीन, डॉ. सविता तिवारी, डॉ. अरूण कुमार वर्मा, डॉ. नेहा कपूर, डॉ. श्वेता, कर्मचारी टूनटून यादव, रमेश कुमार, मधुकर, पंकज, सुनील कुमार, मो. फैजान, विजय श्रीवास्तव, आदिल फखर, पीएसआई-टीसीआईएचसी संस्था से प्रोग्राम मैनेजर केवल सिंह सिसौदिया व उनकी टीम से सुशील कुमार, प्रियंका सिंह, रेखा शर्मा, अनामिका राठौर और सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफॉर) संस्था के प्रतिनिधि वेद प्रकाश पाठक को कोरोना काल में प्रशंसनीय योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।

कार्यशाला में सीएमओ की पत्नी कुसुम पांडेय, जिला महिला अस्पताल से डॉ. कविता रानी शर्मा, जंगल कौड़िया के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनीष चौरसिया, डीईआईसी मैनेजर डॉ. अर्चना, यूपीटीएसयू से जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ, डीडीएम पवन कुमार, सूर्या क्लिनिक से राकेश और महिला अस्पताल से अमरनाथ जायसवाल ने भी प्रमुखता से प्रतिभाग किया। कार्यशाला का संचालन जिला क्वालिटी एश्योरेंस कंसल्टेंट डॉ. मुस्तफा खान ने किया ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.