Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या में बनेगा अनूठा मंदिरों का संग्रहालय, प्राचीन शैलियों के मंदिरों के बनाए जाएंगे कई मॉडल अंसल एपीआई के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने कसा शिकंजा, पुलिस कमिश्नर से अंसल के खिलाफ लखनऊ में दर्ज मु... कोटे के दूकान के आवंटन की मांगः डीएम को सौंपा ज्ञापन सदर विधायक महेन्द्र यादव ने मो. सलीम, शैलेन्द्र को बनाया प्रतिनिधि अदालत के आदेश के बाद भी नहीं मिला जमीन पर कब्जा, डीएम ने दिया कार्रवाई का निर्देश बच्चों के साथ ससुराल में शान्ती देवी ने शुरू किया धरना शासन के निर्देश पर हुआ परिषदीय स्कूलों की साफ—सफाई 01 जुलाई से 30 सितंबर तक संचालित किया जाएगा संभव अभियान,चिन्हित किये जायेंगे अतिकुपोषित बच्चे : सीडी... प्रतापगढ़: सिपाही संजय यादव की हत्या के मामले मे शामिल चार आरोपी पुलिस हिरासत में अलर्ट: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 682 नए मामले

13 जून से संचालित की जायेंगी बस्ती एवं खलीलाबाद शाखा की नहरे- राकेश कुमार

कबीर बस्ती न्यूज:

बस्ती: खरीफ फसली वर्ष 2022-23 में चौधरी चरण सिंह डुमरियागंज पम्प नहर प्रणाली बस्ती एवं खलीलाबाद शाखा की नहरे 13 जून से संचालित की जायेंगी। उक्त जानकारी अधिशासी अभियन्ता सरयू नहर खण्ड-4 राकेश कुमार गौतम ने दी है।  उन्होने बताया कि जिला स्तरीय समिति द्वारा नहर चलाने का रोस्टर स्वीकृत कर दिया गया है। उन्होने किसानों से अपील किया है कि यह पानी बहुत ही मूल्यवान है। इसकी एक-एक बूॅद को बचाना और उसका सदुपयोग करना हम सब का कर्तव्य है। खेती की सिचाई करते समय पानी का दुरूपयोग न होने दें।
उन्होने कहा है कि नहरों को काटना, बंधा लगाना, कुलावे उखाड़ना, या ऊपर-नीचे करना, फर्जी कुलावे लगाना, नहर की पटरियों को खलिहान बनाना, पटरियों पर जानवर बाधना, गोबर व कूड़ा-कबाड़ डालना, पुलों की पैराकिट व छत तोड़ना, नहरों के गेट को अपनी मर्जी से उठाना या बन्द करना, पेड़ काटना आदि अनुचित कार्य है। इससे नहरों की क्षति होती है। इस प्रकार के कार्य कैनाल एक्ट सन 1873 की धारा-70 के अन्तर्गत अपराध है।
उन्होने किसानों से अपील किया है कि वे अपने गूलों को ठीक एंव साफ रखें। गूल ठीक दशा में न रहने पर उसमें पानी देना बन्द किया जा सकता है। कुलावे से पानी लगाने के बाद कुलावा बन्द कर दें। ंउन्होने बताया कि डुमरियागंज पम्प नहर विद्युत पर आधारित है। विद्युत की उपलब्धता के अनुसार नहरों का संचालन किया जायेंगा। उन्होने बताया कि सरयू नहर खण्ड-4 बस्ती में कुल 478.682 किमी0 नहरें है। इसमें 02 शाखा, 08 रजवाहा तथा 71 माइनर है। इसी प्रकार सरयू नहर खण्ड अयोध्या मंे कुल 420.841 किमी0 नहरें है, जिसमें 01 मुख्य नहर, 01 शाखा, 04 रजवाहा तथा 56 माइनर है।