Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या में बनेगा अनूठा मंदिरों का संग्रहालय, प्राचीन शैलियों के मंदिरों के बनाए जाएंगे कई मॉडल अंसल एपीआई के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने कसा शिकंजा, पुलिस कमिश्नर से अंसल के खिलाफ लखनऊ में दर्ज मु... कोटे के दूकान के आवंटन की मांगः डीएम को सौंपा ज्ञापन सदर विधायक महेन्द्र यादव ने मो. सलीम, शैलेन्द्र को बनाया प्रतिनिधि अदालत के आदेश के बाद भी नहीं मिला जमीन पर कब्जा, डीएम ने दिया कार्रवाई का निर्देश बच्चों के साथ ससुराल में शान्ती देवी ने शुरू किया धरना शासन के निर्देश पर हुआ परिषदीय स्कूलों की साफ—सफाई 01 जुलाई से 30 सितंबर तक संचालित किया जाएगा संभव अभियान,चिन्हित किये जायेंगे अतिकुपोषित बच्चे : सीडी... प्रतापगढ़: सिपाही संजय यादव की हत्या के मामले मे शामिल चार आरोपी पुलिस हिरासत में अलर्ट: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 682 नए मामले

प्रयागराज: पुलिस के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहे हैं अटाला बवाल मामले में नामजद 31 आरोपी

कबीर बस्ती न्यूज:

प्रयागराज: अटाला बवाल मामले में नामजद 31 आरोपी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहे हैं। पुलिस टीमें इनकी तलाश में धूल फांक रही हैं। 12 दिन बीतने के बाद भी उनका पता नहीं लगाया जा सका है। इनमें करेली के पार्षद फजल व एआईएमआईएम जिलाध्यक्ष शाह आलम समेत पांच वह आरोपी भी शामिल हैं, जिनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुआ है। फिलहाल पुलिस उनकी तलाश में जुटी है। उधर, एक अन्य नामजद आरोपी सगीर को खुल्दाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

अटाला बवाल मामले में कुल 95 नामजद और 5400 अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है। इनमें से खुल्दाबाद थाने में दर्ज एक मुकदमे में 70 जबकि करेली थाने में दर्ज दो मुकदमों में 25 लोग नामजद किए गए थे। अब तक कुल 103 आरोपी जेल भेजे जा चुके हैं। इनमें से कई नामजद तो कुछ अज्ञात भी शामिल हैं जिन्हें वीडियो व सीसीटीवी फुटेज से चिह्नित किया गया है।

फिलहाल 32 नामजद आरोपी ऐसे हैं जो 12 दिन बीतने के बाद भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। उनकी तलाश में खुल्दाबाद व करेली पुलिस के साथ एसओजी को भी लगाया गया है। सीओ कोतवाली सत्येंद्र प्रसाद तिवारी का कहना है कि आरोपियों के हरसंभव ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। फिलहाल वह घर छोड़कर भागे हुए हैं।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि पुलिस फरार चल रहे कुछ अन्य आरोपियों के खिलाफ भी वारंट जारी कराने की तैयारी में है। 32 वांछितों में शामिल कुछ अन्य के खिलाफ भी एनबीडब्ल्यू जारी कराने के लिए कोर्ट में अर्जी दी जाएगी। उधर अफसरों का यह भी कहना है कि एनबीडब्ल्यू जारी होने के बाद भी आरोपी हाजिर नहीं होते हैं, तो उनके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई शुरू करने के लिए कोर्ट में अर्जी दी जाएगी।