Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
रेलवे से रिटायर्ड इंजीनियर को दबंग ठेकेदार ने अपने दो साथियों के साथ रात भर बंधक बनाकर पीटा राखी बंधवाने आए एक युवक की दो लोगों ने ब्लेड से रेत दिया गला, आरोपियों के तलाश मे पुलिस राज्य कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्राः डीएम ने बढाया हौसला एपीएन के छात्रों ने निकाली तिरंगा यात्रा पोषण व पुनर्वास केन्‍द्र में भर्ती बच्‍चों ने एक दूसरे को बांधी राखी गर्भावस्था में महिलाएं हो सकती हैं वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम की शिकार नगर पंचायतों में जलकर प्राप्त करने के लिए डीएम ने दिए निर्देश बेगम खैर गर्ल्स इण्टर कालेज की छात्राओं ने निकाली तिरंगा यात्रा 14 अगस्त को आयोजित हो रहे तिरगां यात्रा को लेकर तैयारियों पर चर्चा आज मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण करेंगे मुख्यमंत्री योगी

परिषदीय स्कूलों मे शिक्षा की गुणवत्ता बढाने के लिए मण्डलायुक्त ने अधिकारियों को दिए निर्देश

कबीर बस्ती न्यूज:

बस्ती: बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बढाने के लिए मण्डलायुक्त गोविंदराजू एन.एस. ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है। मण्डलायुक्त सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने निर्देश दिया कि विद्यालय में समय से अध्यापको की उपस्थिति सुनिश्चित कराये। कायाकल्प योजना के अन्तर्गत विद्यालयों में पेयजल, विद्युत, शौचालय, खेल-कूद के संसाधन, पुस्तकालय आदि की सुविधा सुनिश्चित करायी जाय। उन्होने निर्देश दिया है कि जनप्रतिनिधि एंव अधिकारीगण विद्यालय गोद लेकर इसको बेहतर बनाने में योगदान करें।
उन्होने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 2025-26 तक उ0प्र0 को निपुण प्रदेश बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। सभी विद्यालयों में अध्यापको को इससे अवगत कराते हुए निपुण लक्ष्य के मानक पूरा करें। उन्होने सभी छात्र-छात्राओं का आधार कार्ड से सत्यापन कराने का निर्देश दिया। उन्होने बालवाटिका के अन्तर्गत प्रदेश सरकार द्वारा 12 सप्ताह के कलेण्डर को लागू करने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा है कि इस वर्ष 250 स्कूल में स्मार्ट क्लास बनाया जायेंगा। इसके लिए विद्यालय चिन्हित कर तैयारी शुरू कर दें।
उन्होने स्कूल के ध्वस्तीकरण की समीक्षा किया। उन्होने निर्देश दिया कि केवल ध्वस्त किए जाने योग्य कक्षाओं को ही ध्वस्त किया जाय। इसके लिए पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर के साथ एबीएसए तथा प्रधानाध्यापक की जिम्मेदारी तय की जाय। जॉच में यदि भवन की गुणवत्ता ठीक पायी जाती है तो उसे कदापि ध्वस्त न किया जाय। साथ ही ध्वस्त किए जाने योग्य कक्षाओं का सही-सही मूल्याकंन किया जाय ताकि सरकारी खजानें को समुचित धनराशि मिल सके।
उन्होने निःशुल्क पुस्तको की उपलब्धता, नामांकन की स्थिति, छात्र-छात्राओं का आधार लिंक रिपेार्ट, कायाकल्प की स्थिति, सरल ऐप, विद्यालयों को गोद लिए जाने की स्थिति, जिला स्तरीय एंव ब्लाक स्तरीय टास्क फोर्स द्वारा विद्यालयों के निरीक्षण की स्थिति, एन.सी.ई.आर.टी. की पुस्तको की उपलब्धता, विद्यालयों में अध्यापको की तैनाती की स्थिति का भी समीक्षा किया। बैठक का संचालन राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त अध्यापक डा. सर्वेष्ट मिश्रा ने किया। बैठक में जेडीसी पद्मकान्त शुक्ल, अपर निदेशक स्वास्थ्य डा. सी.पी. कश्यप, सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा, तीनों जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारीगण उपस्थित रहें।