Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सिद्वार्थनगर पहुंची राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, कार द्वारा बौद्ध तीर्थ लुम्बिनी के लिए प्रस्था... मनरेगा से स्वीकृत 24 में से मात्र 08 कार्य पूर्ण होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त किया असंतोष बैठक मे लिया गया मशरूम तथा काला नमक की खेती को बढावा देने का लिए निर्णय टेढे-मेढे पैर वाले बच्चो के उपचार के लिए की जायेंगी परिवारों की काउंसलिंग 40 दिव्यांगजनो को मिला ट्राईसाइकिल मार्ग दुर्धटना मे घायल हे0कां0 गोविन्द कुमार की मौत, पार्थिव शरीर को एसपी ने दी सलामी कांग्रेस जिला कार्यकारिणी का विस्तार, उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष घोषित अधिवक्ता दिवस के रूप में प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद को जयन्ती पर किया नमन् जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद फोकस्ड सैम्पलिंग के जरिए माप रहे कोरोना का प्रभाव

सीएम भूपेश बघेल बोले- हम दलबदल नहीं चाहते, हमारे पास पर्याप्त विधायक

रायपुर जरा हटके। मरवाही उपचुनाव से पहले मंत्री जयसिंह अग्रवाल के बयान के बाद जोगी कांग्रेस में खींचतान मची हुई है। सियासत के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साफ कर दिया कि जोगी कांग्रेस के विधायक कांग्रेस में आना चाहते हैं, लेकिन वह दलबदल नहीं चाहते ।उन्होंने कहा कि हमारे पास पर्याप्त विधायक है। इसलिए हम जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं करना चाहते हैं। लेकिन इस पर हाईकमान को ही फैसला करना है। दूसरी तरफ देवव्रत सिंह ने दो टूक शब्दों में स्वीकार किया कि उनको कांग्रेस में ही अपना भविष्य दिखता है और वे उचित समय आने पर कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में दो ही पार्टी कांग्रेस और भाजपा का भविष्य है। कांग्रेश हमारे खून में है। कांग्रेस से ही 3 बार विधायक और एक बार सांसद बना। भावनात्मक रूप से कांग्रेसी है लेकिन संवैधानिक रूप से जोगी कांग्रेस के विधायक हैं। इसलिए अभी हम पार्टी में बने रहेंगे। यदि चार में से तीन विधायक कांग्रेस में शामिल होने पर सहमत होते हैं और कांग्रेस इस पर सहमति देती है तो हम कांग्रेस पार्टी में जाएंगे।देवव्रत ने कहा कि जोगी कांग्रेस के कांग्रेस में विलय की बात पिछले डेढ़ साल से चल रही है।
विधायक देवव्रत सिंह के बयान के बाद बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा ने भी देवव्रत के साथ खड़े होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि वे विधायक देवव्रत के साथ हैं। देवव्रत जिस पार्टी में जाना चाहते हैं, मैं उनके साथ रहूंगा। उन्होंने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस की सुप्रीमो रहे अजीत जोगी उनके राजनीतिक गुरु थे। लेकिन अब उनके जाने के बाद वे विधायक देवव्रत सिंह के साथ हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.