Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

धूमधाम से मनाया गया कांग्रेस पार्टी का 138 वां स्थापना दिवस

कबीर बस्ती न्यूजः

बस्ती। कांग्रेस पार्टी कार्यालय पर पार्टी का 138 वां स्थापना दिवस पीसीसी सदस्य प्रेमशंकर द्विवेदी की अध्यक्षता में धूमधाम से मनाया गया। मुख्य अतिथि पूर्व विधायक अिंबका सिंह ने कहा कांग्रेस अपनी स्थापना से आज तक लोकतांत्रिक मूल्यों और आदर्शों पर काम कर रही है। सत्ता हासिल करने के लिये कभी सिद्धान्तों की बलि नहीं दी। कांग्रेस के लिये देश और नागरिकों का सम्मान सर्वोपरि रहा।
मौजूदा सरकारें महज कुछ लोगों के लिये काम कर रही हैं, देश और नागरिक दोनो हाशिये पर हैं। उन्होने आमजन का आवाह्न किया कि नफरत और भेदभाव की लोकतंत्र विरोधी राजनीति को हतोत्साहित करने को आगे नही आये तो भारत का लोकतंत्र बचना मुश्किल होगा। पूर्व विधायक अफसर यू अहमद ने अपने अनुभवों को साझा करते हुये कहा कि कि कांग्रेस ने 138 सालों में बहुत से उतार चढ़ा देखा है, लेकिन सिद्धान्तों से नही हटी। पार्टी को भारी क्षति उठानी पड़ी, पार्टी के शीर्ष नेताओं को प्राणों की आहुति देनी पड़ी लेकिन कांग्रेस के सिद्धान्त आज भी जीवित हैं।
पीसीसी सदस्य प्रेमशंकर द्विवेदी ने कहा राजनीति में आई गिरावट और देशभर में फैले नफरतपूर्ण माहौल के लिये केन्द्र की मोदी और यूपी की योगी सरकार जिम्मेदार है। उन्होने नफरत छोड़ो भारत जोड़ो यात्रा में अधिक से अधिक लोगों को हिस्सा लेने के लिये आवाह्न किया। इससे पहले पूर्व विधायक अंबिका सिंह ने ध्वजारोहण कर कांग्रेस के गौरवशाली इतिहास पर चर्चा की।
कांग्रेस दफ्तर पर ज्ञानेन्द्र पाण्डेय, साधूसरन आर्य, नर्वदेश्वर शुक्ल, गिरजेश पाल, विश्वनाथ चौधरी, जयंत चौधरी, मो. रफीक खां, नोमान अहमद, संदीप श्रीवास्तव, सूर्यमणि पाण्डेय, पीएन दूबे, लालजीत पहलवान, आदित्य त्रिपाठी, सुरेन्द्र मिश्रा, अतीउल्लाह सिद्धीकी, शौकत अली, जेपी अग्रहरि, राकेश पाण्डेय गांधियन, साधू पाण्डेय, रंजना सिंह, डा. शीला शर्मा आदि मौजूद रहे।