Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

शहरी क्षेत्र में होने वाली अवैध प्लाटिंग पर विशेष नजर रखें, अवैध प्लाटिंग करने वालों के विरूद्ध मंत्री ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश,भाटापारा में हो रही दर्जनों अवैध प्लाटिंग का क्या होगा ?

पूरे प्रदेश में अवैध प्लाटिंग करने वाले लोगों के विरुद्ध अब प्रशासन की कार्रवाई तेज हो जाएगी। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने जिला मुख्यालय पर आयोजित समीक्षा बैठक में अवैध प्लाटिंग के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश सभीअनुविभागीय राजस्व अधिकारी को दिए। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल की मौजूदगी में श्री अग्रवाल ने कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए, राजस्व संबंधित प्रकरणों के निराकरण में तेजी लाने के निर्देश बैठक में दिए। राजस्व मंत्री ने बैठक में नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, डायवर्सन आदि कामों को समय सीमा तय कर पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कोविड-19 के कारण लंबित राजस्व प्रकरणों के निराकरण में अगले 20 दिनों में कम से कम 20% की बढ़ोतरी करने के भी निर्देश राज्य के अधिकारियों को दिए। राजस्व मंत्री ने कहा कि राजस्व अधिकारी अपना सूचना तंत्र सक्रिय करें और शहरी क्षेत्रों में होने वाली अवैध प्लाटिंग पर विशेष नजर रखें, उन्होंने अवैध प्लाटिंग के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि अवैध प्लाटिंग को रोकने से एक और शासन को होने वाली राजस्व हानि को बचाया जा सकेगा। वहीं दूसरी और लोग वाजिब दामों पर हाउसिंग बोर्ड, नगर निगम जैसी शासकीय संस्थानों के मकान खरीदेंगे, जिसे शासन को राजस्व भी मिलेगा और लोग बेवजह की परेशानियों से भी बचेंगे ।