Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सिद्वार्थनगर पहुंची राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, कार द्वारा बौद्ध तीर्थ लुम्बिनी के लिए प्रस्था... मनरेगा से स्वीकृत 24 में से मात्र 08 कार्य पूर्ण होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त किया असंतोष बैठक मे लिया गया मशरूम तथा काला नमक की खेती को बढावा देने का लिए निर्णय टेढे-मेढे पैर वाले बच्चो के उपचार के लिए की जायेंगी परिवारों की काउंसलिंग 40 दिव्यांगजनो को मिला ट्राईसाइकिल मार्ग दुर्धटना मे घायल हे0कां0 गोविन्द कुमार की मौत, पार्थिव शरीर को एसपी ने दी सलामी कांग्रेस जिला कार्यकारिणी का विस्तार, उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष घोषित अधिवक्ता दिवस के रूप में प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद को जयन्ती पर किया नमन् जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद फोकस्ड सैम्पलिंग के जरिए माप रहे कोरोना का प्रभाव

बजटः किसी ने की तारीफ, किसी ने कहा कर्मचारियों के लिये कुछ नहीं

बस्तीः सदर विधायक दयाराम चौधरी ने पांचवे पूर्ण पेपरलेस बजट पर कहा है कि यह बजट जय जवान, जय किसान को समर्पित है। 5,50,270.78 करोड़ रुपये के बजट मे किसानों, युवाओं को रोजगार, उद्योगों के विकास, किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये की व्यवस्था है। इस बजट से प्रदेश के विकास की गति तेज होगी और जहां अन्नदाता की आय दो गुनी होगी। बजट मील का पत्थर है वहीं महिलाओं को उद्यमी बनाने, उनकी सुरक्षा आदि पर पर्याप्त ध्यान है। आत्मनिर्भर भारत को समर्पित यह बजट सभी वर्गो के लिये कल्याणकारी है।

वहीं राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश ‘एस.पी. तिवारी गुट’ के जिलाध्यक्ष अतुल कुमार पाण्डेय ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा है कि इस बजट से प्रदेश के कर्मचारियों में घोर निराशा है। बजट में सरकारी कर्मचारियों के लिये कुछ भी नहीं है। बहुत उम्मीद थी कि पुरानी पेंशन नीति बहाली की दिशा में प्रदेश सरकार पहल करेगी और राज्य कर्मचारियों के लम्बित मामलों को निस्तारित करने की दिशा में बजटीय प्राविधान होगा किन्तु इस पेपरलेस बजट में कर्मचारी पूरी तरह से उपेक्षित है। कहा कि बजट में कोरोना यौद्धाओं को भी सरकार ने अनदेखी कर दिया। अल्प वेतन भोगी और मध्यम वर्ग के लोग कोरोना काल में सर्वाधिक परेशान रहे। उन्हें कोई राहत नहीं दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.