Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचकुण्डीय श्री रुद्र महायज्ञ एवं श्रीमद्भागवत कथा आयोजन को लेकर बैठक विद्यालय को विद्युत कनेक्शन दिलाने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप ज्येष्ठ मास के द्वितीय बड़े मंगलवार को भण्डारे में उमड़ी आस्था रोडवेज की भूमि पर अवैध दावा करने वालो पर की जायेंगी भूमाफिया एक्ट एवं गुण्डा एक्ट की कार्यवाही बस्ती-मेंहदावल हेतु निजी बस संचालको द्वारा स्वसंचालित बस स्टैण्ड तत्काल प्रभाव से कराया गया बन्द 375 ट्रक चालकों में निःशुल्क चश्मा वितरित, 400 की हुई जांच मिल की सम्पत्ति बेचकर किया जायेंगा किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान: जिलाधिकारी 12 से 14 वर्ष आयु के बच्चों का कोविड टीकाकरण कराने के निर्देश ई. राकेश मण्डल अध्यक्ष, राजकुमार मण्डल सचिव बने सरोजिनी नगर से भाजपा विधायक डा. राजेश्वर सिंह की माता श्रीमती तारा सिंह का निधन

बजटः किसी ने की तारीफ, किसी ने कहा कर्मचारियों के लिये कुछ नहीं

बस्तीः सदर विधायक दयाराम चौधरी ने पांचवे पूर्ण पेपरलेस बजट पर कहा है कि यह बजट जय जवान, जय किसान को समर्पित है। 5,50,270.78 करोड़ रुपये के बजट मे किसानों, युवाओं को रोजगार, उद्योगों के विकास, किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये की व्यवस्था है। इस बजट से प्रदेश के विकास की गति तेज होगी और जहां अन्नदाता की आय दो गुनी होगी। बजट मील का पत्थर है वहीं महिलाओं को उद्यमी बनाने, उनकी सुरक्षा आदि पर पर्याप्त ध्यान है। आत्मनिर्भर भारत को समर्पित यह बजट सभी वर्गो के लिये कल्याणकारी है।

वहीं राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश ‘एस.पी. तिवारी गुट’ के जिलाध्यक्ष अतुल कुमार पाण्डेय ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा है कि इस बजट से प्रदेश के कर्मचारियों में घोर निराशा है। बजट में सरकारी कर्मचारियों के लिये कुछ भी नहीं है। बहुत उम्मीद थी कि पुरानी पेंशन नीति बहाली की दिशा में प्रदेश सरकार पहल करेगी और राज्य कर्मचारियों के लम्बित मामलों को निस्तारित करने की दिशा में बजटीय प्राविधान होगा किन्तु इस पेपरलेस बजट में कर्मचारी पूरी तरह से उपेक्षित है। कहा कि बजट में कोरोना यौद्धाओं को भी सरकार ने अनदेखी कर दिया। अल्प वेतन भोगी और मध्यम वर्ग के लोग कोरोना काल में सर्वाधिक परेशान रहे। उन्हें कोई राहत नहीं दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.