Logo
ब्रेकिंग न्यूज़

युवती को मिला गनर, मुकदमा संतकबीर नगर ट्रांसफर

दीपक के पिता की हत्या की फाइल फिर से खुलेगी

बस्ती – निलबंति दारोगा दीपक सिंह के जुल्म की शिकार युवती को बुधवार को सरकारी सुरक्षा प्रदान कर दी गई। मंगलवार को कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराने के बाद युवती ने जान का खतरा बताते हुए एसपी से सुरक्षा मांगी थी। बुधवार को उसकी सुरक्षा में गनर तैनात करने के साथ कोतवाली थाने में दर्ज मुकदमे की विवेचना संतकबीर नगर स्थानांतरित कर दी गई है। विवेचना सीओ स्तर के अधिकारी करेंगे। बस्ती रेंज के आइजी अनिल कुमार राय ने संतकबीरनगर के पुलिस अधीक्षक डा.कौस्तुभ को इस संबंध में पत्र भेजा है।
कोर्ट में बयान देने के बाद युवती ने पुलिस के सामने भी दारोगा का कच्चा-चिट्ठा खोला है। बताया जा रहा है कि युवती ने वाट्सएप पर भेजे गए सभी अश्लील मैसेज और वीडियो क्लिपिंग पुलिस को मुहैया कराई है। इन्हें दारोगा के खिलाफ बेहद अहम सुबूत माना जा रहा है।
गोरखपुर के चौरी चौरा के सोनबरसा निवासी दारोगा दीपक सिंह के पिता प्रभुनाथ सिंह की हत्या की फाइल फिर से खुलेगी। इस मामले में विवेचना के दौरान दारोगा का भी नाम आया था। पिता की हत्या में दारोगा का नाम आने की जानकारी के बाद एडीजी अखिल कुमार ने मुकदमे की स्टेटस रिपोर्ट देवरिया के एसपी से तलब की है। साथ ही मुकदमे की फिर से जांच के आदेश दिए हैं। दीपक के पिता प्रभुनाथ सिंह की देवरिया के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र में आठ जून 2013 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। विवेचना के दौरान दारोगा दीपक सिंह का नाम आया था। उसे तब जेल भी भेजा गया था लेकिन साक्ष्य के अभाव में वह बरी हो गया।