Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचकुण्डीय श्री रुद्र महायज्ञ एवं श्रीमद्भागवत कथा आयोजन को लेकर बैठक विद्यालय को विद्युत कनेक्शन दिलाने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप ज्येष्ठ मास के द्वितीय बड़े मंगलवार को भण्डारे में उमड़ी आस्था रोडवेज की भूमि पर अवैध दावा करने वालो पर की जायेंगी भूमाफिया एक्ट एवं गुण्डा एक्ट की कार्यवाही बस्ती-मेंहदावल हेतु निजी बस संचालको द्वारा स्वसंचालित बस स्टैण्ड तत्काल प्रभाव से कराया गया बन्द 375 ट्रक चालकों में निःशुल्क चश्मा वितरित, 400 की हुई जांच मिल की सम्पत्ति बेचकर किया जायेंगा किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान: जिलाधिकारी 12 से 14 वर्ष आयु के बच्चों का कोविड टीकाकरण कराने के निर्देश ई. राकेश मण्डल अध्यक्ष, राजकुमार मण्डल सचिव बने सरोजिनी नगर से भाजपा विधायक डा. राजेश्वर सिंह की माता श्रीमती तारा सिंह का निधन

पैरोल पर रिहा सजायाफ्ता कैदी गांजा सहित गिरफ्तार

गिरफ्तार अभियुक्त पर हर्रैया थाने में लूट समेत दर्ज हैं कुल 11 आपराधिक मुकदमे

संवाददाता,बस्ती। कोविड-19 की पहली लहर में पैरोल पर रिहा किया गया सिद्धदोष बंदी मंगलवार को गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया। पैरोल की अवधि पूरी होने के बावजूद वह जेल में नहीं लौटा था। फरार विनोद वर्मा को हर्रैया पुलिस ने बेलाड़े मोड़ के पास से पकड़ा। पुलिस ने उसके कब्जे से एक किलो तीन सौ ग्राम गांजा बरामद किया गया।
थानाध्यक्ष विकास यादव ने बताया कि उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तारी की जानकारी जेल अधीक्षक संतलाल यादव को दे दी गई है। हर्रैया थाने के बड़हरकला निवासी विनोद वर्मा को लूट के आरोप में न्यायालय से सात साल की सजा हो चुकी है। जिला कारागार में वह अपनी सजा काट रहा था। मगर कोविड-19 का प्रकोप बढ़ने पर कुछ बंदियों के साथ उसे भी पैरोल पर जिला कारागार से छोड़ा गया था। जेल अधीक्षक संतलाल यादव ने बताया कि अवधि पूरी होने के बाद भी वह कारागार नहीं पहुंचा तो इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। इसके बाद से ही हर्रैया पुलिस विनोद की तलाश में जुटी थी।
मंगलवार को थाना प्रभारी विकास यादव और उनकी टीम ने उसे बेलाड़े शुक्ल मोड़ से गांजा के साथ गिरफ्तार कर लिया। जेल प्रशासन को सूचित करने के साथ ही उसे कोर्ट रवाना कर दिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपित विनोद पर हर्रैया में लूट समेत कुल 11 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.