Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

पैरोल पर रिहा सजायाफ्ता कैदी गांजा सहित गिरफ्तार

गिरफ्तार अभियुक्त पर हर्रैया थाने में लूट समेत दर्ज हैं कुल 11 आपराधिक मुकदमे

संवाददाता,बस्ती। कोविड-19 की पहली लहर में पैरोल पर रिहा किया गया सिद्धदोष बंदी मंगलवार को गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया। पैरोल की अवधि पूरी होने के बावजूद वह जेल में नहीं लौटा था। फरार विनोद वर्मा को हर्रैया पुलिस ने बेलाड़े मोड़ के पास से पकड़ा। पुलिस ने उसके कब्जे से एक किलो तीन सौ ग्राम गांजा बरामद किया गया।
थानाध्यक्ष विकास यादव ने बताया कि उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तारी की जानकारी जेल अधीक्षक संतलाल यादव को दे दी गई है। हर्रैया थाने के बड़हरकला निवासी विनोद वर्मा को लूट के आरोप में न्यायालय से सात साल की सजा हो चुकी है। जिला कारागार में वह अपनी सजा काट रहा था। मगर कोविड-19 का प्रकोप बढ़ने पर कुछ बंदियों के साथ उसे भी पैरोल पर जिला कारागार से छोड़ा गया था। जेल अधीक्षक संतलाल यादव ने बताया कि अवधि पूरी होने के बाद भी वह कारागार नहीं पहुंचा तो इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। इसके बाद से ही हर्रैया पुलिस विनोद की तलाश में जुटी थी।
मंगलवार को थाना प्रभारी विकास यादव और उनकी टीम ने उसे बेलाड़े शुक्ल मोड़ से गांजा के साथ गिरफ्तार कर लिया। जेल प्रशासन को सूचित करने के साथ ही उसे कोर्ट रवाना कर दिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपित विनोद पर हर्रैया में लूट समेत कुल 11 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।