Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

इस बार 22 तारीख को मनाया जाएगा खुशहाल परिवार दिवस

हर माह की 21 तारीख को जिला व ब्लॉक स्तरीय अस्पतालों में होता है आयोजन

– परिवार नियोजन के लिए सुलभ होती है साधनों की बास्केट ऑफ च्वॉयस

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0। 

खुशहाल परिवार दिवस इस माह 22 तारीख को मनाया जाएगा। हर माह की 21 तारीख को इसका आयोजन जिला महिला अस्पताल सहित सभी ब्लॉक स्तरीय अस्पतालों, पीएचसी, एएनएम सेंटर व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर होता है। इस बार 21 तारीख को अवकाश पड़ जाने के कारण इसका आयोजन अगले दिन किया जा रहा है। खुशहाल परिवार दिवस के अवसर पर पात्र दंपत्ति को परिवार नियोजन से संबंधित साधनों का बास्केट ऑफ च्वॉयस उपलब्ध कराया जाता है। इस आयोजन का उद्देश्य लोगों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करके छोटा परिवार रखने के लिए प्रेरित करना है।

एसीएमओ आरसीएच डॉ. सीके वर्मा ने बताया कि आशा द्वारा गांव में पात्र दंपत्ति को प्रेरित करके स्वास्थ्य केंद्र पर लाना होता है। यहां पर दंपत्ति की काउंसिलिंग की जाती है तथा उसके लिए उचित साधन अपनाने को कहा जाता है। जिन लोगों द्वारा नसबंदी की इच्छा व्यक्त की जाती है, उनका पंजीकरण कराकर नसबंदी के निर्धारित सेवा दिवस के दिन उन्हें बुलवाकर ऑपरेशन कराया जाता है। इसके अतिरिक्त परिवार नियोजन का जो भी साधन उपलब्ध होता है, वह लोगों को मुहैया कराया जाता है। उन्होंने बताया कि परिवार नियोजन के माध्यम से जहां छोटा और सुखी परिवार बनाने के लिए प्रेरित किया जाता है, वहीं इसके द्वारा शिशु एवं मातृ मृत्यु दर में कमी लाने में सहयोग मिलता है।

डॉ. वर्मा ने बताया कि जनपद की कुल प्रजनन दर 3.5 है जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है। इसे देखते हुए जिले में मिशन परिवार विकास कार्यक्रम चलाया जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा लोगों तक जानकारी पहुंचाई जा रही है, जिससे वह योजना का लाभ उठा सकें।

सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी (एमओआईसी) से कहा गया है कि खुशहाल परिवार दिवस का आयोजन कोविड प्रोटोकाल के साथ किया जाए। लोगों को मॉस्क पहन कर आने को कहें  तथा एक दूसरे से पर्याप्त दूरी अस्पताल में बनाए रखें। अस्पताल में सेनेटाइजर व हाथ धोने के लिए साबुन व पानी की व्यवस्था कराई जाए। लोगों को कोविड के प्रति भी जागरूक किया जाए।

छोटे परिवार के प्रति महिलाओं में बढ़ी जागरूकता

छोटे परिवार के प्रति महिलाओं में जागरूकता बढ़ी है। डॉ. वर्मा ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में 1137 महिलाओं ने प्रसव पश्चात पीपीआईयूसीडी, 1191 महिलाओं ने आईयूसीडी, 722 महिलाओं द्वारा तिमाही गर्भनिरोधक अंतरा इंजेक्शन लिया जा रहा है। इसके अलावा परिवार नियोजन से संबंधित अन्य संसाधनों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।