Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

अस्पताल जाएं तो विशेष सतर्कता अपनाएँ : – सीएमओ

कोविड अनुरूप व्यवहार का रखें खास ख्याल

जिले में कोविड नियंत्रण में है लेकिन लापरवाही पड़ सकती है भारी

कबीर बस्ती न्यूज,गोरखपुर। उ0प्र0।

मानसून के आगमन के साथ वायरल फीवर (बुखार) और मौसमी बीमारियों से भी लोग ग्रसित होने लगे हैं । ऐसे में अस्पतालों में आने वालों की तादाद बढ़ने लगी है । इसे देखते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने लोगों से अपील की है कि अगर अस्पताल जा रहे हैं तो कोविड अनुरूप व्यवहार के प्रति विशेष सतर्कता बरतें। जिले में कोविड फिलहाल नियंत्रण में है लेकिन थोड़ी सी भी लापरवाही से बीमारी का प्रसार बढ़ेगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी का कहना है कि सरकारी और निजी अस्पतालों को कोविड अनुरूप व्यवहार का सख्ती से पालन करवाने को कहा गया है । अस्पतालों के प्रयासों के अलावा इस कार्य में जनसहयोग और जनसहभागिता भी बहुत जरूरी है । प्रायः देखा जा रहा है कि अस्पताल परिसर में प्रवेश के बाद लोग मॉस्क उतार देते हैं या फिर नाक के नीचे लगाते हैं। अस्पताल परिसर में विभिन्न प्रकार के संक्रमण का खतरा रहता है, इसलिए वहां अतिरिक्त सतर्कता की आवश्यकता है। ऐसे स्थानों पर मॉस्क बिल्कुल नहीं उतारना है और ठीक ढंग से मॉस्क पहनना है। इसके अलावा साथ में सेनेटाइजर अवश्य रखें और समय-समय पर हाथों को सेनेटाइज करते रहें। हैंडवॉश भी करते रहना है। जहां तक संभव हो एक दूसरे से दो गज की दूरी बना कर रखें।

सीएमओ डॉ. पांडेय ने बताया कि अस्पताल परिसर से वापस लौटने के बाद नहाना बिल्कुल न भूलें। कपड़े आदि धुलने को डाल दें और कलाई घड़ी, मोबाइल, जेवरात आदि को सावधानी से सेनेटाइज कर दें। इन सभी सावधानियों के बावजूद अगर कोविड का लक्षण दिखाई दे रहा है तो चिकित्सक के परामर्श से कोरोना जांच अवश्य करवा लेनी चाहिए। सहरूग्णता जैसे टीबी, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, ह्रदय रोग, सांस रोग आदि से ग्रसित मरीज को बहुत आवश्यक होने पर ही अस्पताल ले जाना है। ऑनलाइन परामर्श से कार्य चल जाए तो अस्पताल जाने से बचें क्योंकि ऐसे लोगों को कोविड होने पर जटिलताएं बढ़ जाती हैं।

टीकाकरण केंद्रों पर रखें खास ख्याल

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोविड टीकाकरण केंद्रों पर भी इन दिनों बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। केंद्रों पर जो लोग भी आ रहे हैं मॉस्क लगाना और हैंडवॉशिंग या हाथ सेनेटाइज करना न भूलें। कोशिश करें कि एक दूसरे से दूरी बना कर रहें। जिन लोगों ने कोविड के टीके की एक डोज या दोनों डोज ले ली है, उन्हें भी यह सावधानी बरतनी है। घर लौटने पर बीमार, बुजुर्ग और बच्चों के संपर्क में तभी आना है जब खुद नहा लें और साथ गयी चीजें सेनेलाइज कर लें। एक मंत्र हमेशा याद रखना है कि अगर कोई भी बुखार होता है तो प्रशिक्षित चिकित्सक को ही दिखाना है।