Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

नौ माह से पांच साल तक जरूर पिलाएं विटामिन-ए की खुराक

– प्रभारी सीएमओ ने किया उद्घाटन

– जिला महिला अस्पताल में किया गया आयोन

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

जिले में विटामिन ए सम्पूरण कार्यक्रम का शुभारंभ शनिवार को हुआ। जिला महिला अस्पताल में प्रभारी सीएमओ डॉ. एफ हुसैन ने फीता काटकर व एक बच्चे को विटामिन ए की खुराक पिलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अभियान के दौरान जिले में कुल 3.70 लाख बच्चों को खुराक पिलाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

प्रभारी सीएमओ ने कहा कि नौ माह से पांच साल तक के बच्चों को साल में दो बार विटामिन ए की खुराक जरूर पिलवाएं। इस अभियान के दौरान इस उम्र के बच्चों को खुराक पिलाई जानी है। उन्होंने कहा कि विटामिन ए, वसा में एक घुलनशील विटामिन है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। कोविड काल को देखते हुए इसे सभी पात्र बच्चों को पिलाया जाना जरूरी है। कोविड से बचाव में रोग प्रतिरोधक क्षमता की महत्वपूर्ण भूमिका है।

प्रदेश में एक से चार साल तक के लगभग 17 प्रतिशत बच्चे विटामिन ए की कमी से जूझ रहे हैं। नौ माह से पांच साल के बीच नौ बार विटामिन ए की खुराक दिए जाने से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोत्तरी होती है, जिससे वह स्वस्थ व तंदरूस्त होते हैं। विटामिन ए के अतिरिक्त छह माह से पांच साल तक के बच्चों को एनीमिया से बचाव के लिए आईएफए सीरप का भी वितरण किया जाएगा। कार्यक्रम में जिला महिला अस्पताल की सीएमएस डॉ. सुषमा सिन्हा, चिकित्सक डॉ. पीके श्रीवास्तव, यूनिसेफ के मंडलीय कोआर्डिनेटर मनोज कुमार श्रीवास्तव, यूनिसेफ के डीएमसी आलोक राय और एपी श्रीवास्तव प्रमुख तौर पर उपस्थित रहे।

यह खुराक है निर्धारित
नौ माह से 12 माह एक एमएल (आधा चम्मच), 16 से 24 माह- दो एमल, दो से पांच वर्ष- दो एमएल

विटामिन ए के फायदे
बालरोग विशेषज्ञ डॉ. पीके श्रीवास्तव ने बताया कि विटामिन ए की मौजूदगी से रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है। आखों की परत अर्थात कार्निया सुरक्षित रहती है। आखों के रोग रतौंधी आदि से बचाव होता है। इससे बाल मृत्यु दर में भी कमी होती है। खसरा, मलेरिया, दस्त से होने वाली मौत में कमी आती है। इस समय सबसे बड़ी समस्या कुपोषण की है। विटामिन ए कुपोषण को दूर कर शरीर के विकास में सहायक होता है।