Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समय से समस्याओं का निराकरण कर हम लोगो की कर सकते है वास्तविक सेवा: गोविंदराजू एन.एस. थाना समाधान दिवस पर डीएम,एसपी ने की जनसुनवाई नवागत मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने मण्डलायुक्त पद का ग्रहण किया कार्यभार सांसद ने किया खेल महाकुंभ तैयारियों का निरीक्षण हर मोड़ पर खरा उतर रहा है भारतीय संविधान-डा. वी.के. वर्मा बाबा साहब के बनाये संविधान को ध्वस्त करना चाहती है केन्द्र व प्रदेश सरकार: प्रेमशंकर द्विवेदी संविधान दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग

अखिल एकता उद्योग व्यापार मण्डल के स्थापना दिवस पर उठे मुद्दे

सम्मानित हुईं विभूतियां

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

अखिल एकता उद्योग व्यापार मण्डल का प्रथम स्थापना दिवस  जिलाध्यक्ष दिनेश चन्द्र जायसवाल के संयोजन में राजकीय इण्टर कालेज के निकट स्थित एक होटल के सभागार में मनाया गया। मुख्य अतिथि सदर विधायक दयाराम चौधरी ने कहा कि पिछला वर्ष व्यापारियों के लिये बहुत चुनौतीपूर्ण रहा है। प्रदेश सरकार इस कठिन समय में व्यापारी हितों के साथ है। किसी भी व्यापारी का अकारण उत्पीड़न नहीं होने पायेगा।
भाजपा जिलाध्यक्ष महेश शुक्ल ने कहा कि किसान, व्यापारी समाज के अभिन्न अंग है। व्यापारियों ने सदैव सामाजिक कार्यो में हिस्सा लिया है। उन्होने व्यापारियों का उत्साहवर्धन करते हुये कहा कि संकट काल में व्यापारियों ने खुले मन से लोगों की सेवा कर उदाहरण प्रस्तुत किया।
प्रदेश उपाध्यक्ष कुलदीप नरायन ने व्यापारियों की समस्याओं को प्रमुखता से उठाते हुये कहा कि ब्लाक स्तर पर अखिल एकता उद्योग व्यापार मण्डल का विस्तार किया जायेगा।
राष्ट्रीय सचिव तृप्ती गुप्ता ने व्यापारियों की समस्याओं पर प्रकाश डाला। जिलाध्यक्ष दिनेश चन्द्र जायसवाल ने व्यापारियों की समस्याओं को प्रमुखता से रखा। कहा कि संगठन हर मुश्किल समय में व्यापारियों के साथ है। इस अवसर पर अखिल एकता उद्योग व्यापार मण्डल राजकुमार शुक्ल, अजय श्रीवास्तव, राजेश पाण्डेय, दिनेश पाण्डेय, लवकुश सिंह सहित अनेक व्यापारियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से कुलदीप बरनवाल, श्याम सुन्दर जायसवाल, विनोद सिंह, विमल पाण्डेय, राकेश कुमार गौड़, अनुराग दूबे, गोकुल प्रसाद, विनीत कुमार मिश्र, इन्द्रेश कुमार मिश्र, गणेश जायसवाल, अमरनाथ रौनियार, अजीत रौनियार, श्याम नरायन जायसवाल, सुनील कुमार, सौरभ दूबे, विजय कुमार, भागीरथी, शेषनाथ, खुशीराम, राम बहाल, राजेन्द्र प्रसाद, सन्तोष कुमार के साथ ही बड़ी संख्या में व्यापारी शामिल रहे।