Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

मांगों को लेकर गरजे शिक्षक,सौंपा ज्ञापन

निस्तारण न होने पर दिया आन्दोलन की चेतावनी

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल के नेतृत्व में संघ   पदाधिकारियों ने सोमवार को शिक्षक, कर्मचारी, शिक्षा मित्र, अनुदेशक, रसोईयां आदि की समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री, बेसिक शिक्षा मंत्री, मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव बेसिक, महानिदेशक स्कूल शिक्षा को 11 सूत्रीय एवं स्थानीय समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को 16 सूत्रीय ज्ञापन देकर शिक्षक समस्याओं के समाधान का आग्रह किया। ज्ञापन देते हुये संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं का प्रभावी ढंग से निराकरण कराया जाय।  मांग किया केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजकर शिक्षकों, कर्मचारियों की पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल कराया जाय क्योंकि 62 वर्ष की सेवा पूर्ण करने के बाद शिक्षक, कर्मचारियों के जीवन का आधार पेंशन ही बचता है। इसके अभाव में वे मानसिक प्रताड़ना के शिकार हो जाते है। मांगे न मानी गई तो शिक्षक, कर्मचारी अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले वृहद आन्दोलन को बाध्य होंगे।
मुख्यमंत्री को भेजे 11 सूत्रीय ज्ञापन में पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने, कोरोना से मृतक शिक्षकों, कर्मचारियों के परिजनों को आर्थिक सहायता दिये जाने, मृत शिक्षकों के आश्रितों को तृतीय श्रेणी में नियुक्ति करने, परिषदीय शिक्षकों की वरिष्ठता सूची तैयार कराकर पदोन्नति करने, शिक्षा मित्र एवं अनुदेशकों का मानदेय 35 हजार करने, शिक्षकों का जनपद स्तरीय स्थानान्तरण करने, 17140 एवं 18150 का आदेश जारी करने, 69000 भर्ती में नियुक्त शिक्षकों का बकाया वेतन नोटरी बयानहल्फी पर करने, विद्यालयों में कार्यरत रसोईयों का मानदेय 11 हजार करने, एमडीएम डाटा फीडिंग से अध्यापकों को मुक्त करने, एवं जिलाधिकारी तथा बीएसए को भेजे 16 सूत्रीय ज्ञापन मे एमडीएम डाटा फीडिंग एवं 24 जुलाई को आकस्मिक जांच के आधार पर रोके गये शिक्षकों का वेतन भुगतान मानवीय दृष्टिकोण अपनाकर कराये जाने, आदि की मांग शामिल है।
ज्ञापन सौंपने वालों में अखिलेश मिश्र, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, अभय सिंह यादव, विजय प्रकाश चौधरी,  शैल शुक्ल, इन्द्रसेन मिश्र, सन्तोष शुक्ल, रामभरत वर्मा, उमाशंकर मणि त्रिपाठी,  चन्द्रभान चौरसिया, विजय वर्मा, नरेन्द्र दूबे, बब्बन पाण्डेय,  राहुल उपाध्याय,  कृष्ण बहादुर पाल,  उधम सिंह, मारूफ खान, राघवेन्द्र पाण्डेय, सचिन शुक्ल, विष्णुदत्त शुक्ल, रवि प्रताप सिंह, ओम प्रकाश पाण्डेय आदि शामिल रहे।