Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
श्री अग्रसेन जी महाराज जयन्ती पर मरीजों में किया फल का वितरण दौड़ में संध्या, अंशू रहीं अव्वल, रेवरादास, निदूरी टीम का रहा दबदबा राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साऊंघाट के  अधिवेशन में उठा पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा 70 की उम्र में दी टीबी को मात..... बीपीएम ने गोद लेकर टीबी मरीज की की थी मदद 1 अक्टूबर को किसान मोर्चा द्वारा बृहद वृक्षारोपण कराने की बनी योजना सांसद ने किया गांव के लोगों के जीवन में गुणात्मक और रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए पूरी ईमानदारी और न... जनपद न्यायाधीश व जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी कार्यालय पर होता है मुख्यमंत्री पोर्टल का मजाक मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान

लीजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड से सम्मानित की गई मशहूर हस्तियां

लीजेंड दादासाहेब फालके अवॉर्ड २०२१ मे चंद्रशेखर पुसालकर, सुमन तलवार ( साउथ ), राहुल शेवाळे, अनु मलिक, अनूप जलोटा, मुकेश ऋषि जैसी हस्तिया मौजूद
कबीर बस्ती न्यूज,मुम्बई
बॉलीवुड फिल्मों के डायरेक्टर और लीजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड के फाउंडर डॉक्टर कृष्णा चौहान ने ११ जुलाई २०२१ को मेयर हॉल जूहू, मुम्बई में लीजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड २०२१ भव्य पैमाने पर आयोजित किया। इस अवार्ड फंक्शन में बहुत सारी सेलेब्रिटीज़ ने शिरकत की। दक्षिण मध्य मुंबई चेम्बूर से शिवसेना सांसद राहुल शेवाले यहां मुख्य अतिथि के रुप में मौजूद रहे। इस पुरस्कार समारोह में दादा साहेब फालके के ग्रैंडसन चंद्रशेखर पुसाल्कर भी चीफ गेस्ट के रूप में मौजूद थे। साथ ही मशहूर संगीतकार अनु मलिक, पद्मश्री अनूप जलोटा, गजेंद्र चौहान, मुकेश ऋषि, एक्टर सिद्धार्थ निगम, अरुण बख्शी, अनिल नागरथ, रागिनी द्विवेदी, गीतकार सुधाकर शर्मा , ब्राइट के डॉ योगेश लखानी, को भी इस पुरस्कार से नवाजा गया। इस अवार्ड फंक्शन के स्पेशल गेस्ट थे साउथ सिनेमा के मशहूर एक्टर सुमन तलवार, जो खास तौर पर बेंगलुरू से मुम्बई आए थे। उन्होंने शिवाजी द बॉस और गब्बर इज़ बैक जैसी काफी फिल्मों में अपनी अदाकारी का जादू दिखाया है। सुमन तलवार को भी पुरस्कार से सन्मानित किया गया. हिंदी और साउथ फिल्म उद्योग में उनके काम के लिए लीजेंड दादासाहेब फालके २०२१ पुरस्कार दिया गया है। मीडिया क्षेत्र में यह पुरस्कार हिमांशु झुंझुनवाला (द्वापर प्रमोटर), कैलाश मासूम, सोहेल फिदाई, अमित मिश्रा, अवनींद्र आशुतोष, देवेंद्र खन्ना, पुष्कर ओझा, गाज़ी मोईन, शैलेश पटेल, दिलीप पटेल, दलविंद्र धीमन, रमाकांत मुंडे और राजेश कोरील को चंद्र शेखर पुसालकर (लेजेंड दादासाहेब फालके के पोते) द्वारा पुरस्कार से सम्मानित किया गया.
इंटरनेशनल सेलेब्रिटी एंकर सिमरन आहूजा ने इस अवार्ड शो को होस्ट किया जबकि इंटरनेशनल परफॉर्मर शीरीन फरीद, जेबा काजी की स्टेज परफॉर्मेंस ने सबका दिल जीत लिया।
उल्लेखनीय है कि केसीएफ प्रेजेंट्स लेजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड २०२१ इंडियन सिनेमा का सबसे बड़ा पुरुस्कार है। आपको बता दें कि कृष्णा चौहान मुम्बई में लीजेंड दादा साहेब फालके अवार्ड  मई २०२१ में कराने वाले थे मगर कोरोना काल और लॉकडाउन की वजह से ये अवार्ड फंक्शन उस समय नहीं हो पाया। इसी लिए यह अवॉर्ड ११ जुलाई को शानदार ढंग से किया गया। कृष्णा चौहान की ओर से २६ दिसंबर २०२१ को बोलीवुड लीजेंड अवार्ड २०२१ का आयोजन भी किया जाएगा।
गौरतलब है कि कृष्णा चौहान इसी साल २८ फरवरी को बोलीवुड आइकोनिक अवार्ड २०२१ का सफल आयोजन करा चुके हैं।
गौरतलब है कि कृष्णा चौहान का एनजीओ/ ट्रस्ट है जिसका नाम कृष्णा चौहान फाउंडेशन है। इस संस्था के अंतर्गत गरीबों और जरूरतमंदों में भोजन और भगवतगीता का वितरण किया जाता है। कृष्णा चौहान खुद एक सामाजिक कार्यकर्ता है, जो लोगो की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।
उल्लेखनीय है कि कृष्णा चौहान एक फिल्म निर्देशक हैं जो गोरखपुर यूपी के रहने वाले हैं और मुंबई में १८ वर्षों से रह रहे हैं। इन वर्षों में कृष्णा चौहान ने बॉलीवुड के कई मशहूर निर्देशकों को असिस्ट किया और आज कृष्णा चौहान किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। कृष्णा चौहान को आज पूरा बॉलीवुड जानता है।
कृष्णा चौहान की एक हिंदी फिल्म “जीना नही तेरे बिना” रिलीज़ के लिए तैयार है। उनका एक हिंदी एल्बम “ज़िक्र तेरा” भी रिलीज़ होने वाला है। उन्हें उनकी हिंदी शार्ट फिल्म के लिए बेस्ट निर्देशक का पुरस्कार भी मिल चुका है।
कृष्णा चौहान आज जो भी हैं अपनी कड़ी मेहनत की वजह से हैं। बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले कृष्णा चौहान फिल्म निर्देशक होने के हाथ साथ अवार्ड फंक्शन का आयोजन भी करते रहते हैं। साथ ही वह कृष्णा चौहान फाउंडेशन भी संचालित करते हैं। कृष्णा चौहान एक ऐसी हस्ती का नाम है जिन्होंने अपने जन्मदिन पर लोगो में राशन किट बाटे। वह “कर भला तो हो भला” और “सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास” पर यकीन रखते हैं।