Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

कोई भी अति कुपोषित बच्चा इलाज से न रहे वंचित, करें ठोस इन्तजामः डीएम

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती। उ0प्र0।

जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने अति कुपोषित बच्चों को जिला अस्पताल स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र तथा कम कुपोषित बच्चों को तहसील स्तरीय पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराकर उनका समुचित इलाज करने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में उन्होंने यह भी निर्देश दिया है कि जन्मजात शारीरिक अंग में विकृति वाले बच्चों को उनकी करेक्टिव सर्जरी कराने के लिए चिन्हित करें।
उन्होंने कहा कि आशा एवं आंगनबाड़ी अपने कार्य क्षेत्र में निवास करने वाले ऐसे सभी बच्चों की अलग-अलग सूची तैयार करेंगी। अति कुपोषित बच्चों की जांच डॉक्टर द्वारा करा कर उन्हें जिला अस्पताल स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र भिजवाये। सभी सीडीपीओ इसकी सघन मॉनीटरिंग करेंगे ताकि कोई भी अति कुपोषित बच्चा इलाज से वंचित न रहे। इसी प्रकार कम कुपोषित बच्चों को तहसील के पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराया जाएगा। अन्य कुपोषित बच्चों को डॉक्टर द्वारा जांच करके उनके इलाज के लिए दवा दी जाएगी तथा आवश्यक होने पर ही उन्हें भर्ती किया जाएगा।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि जन्म से कटे होंठ वाले, टेढ़े- मेढ़े हाथ पैर वाले या अन्य किसी विकृति से प्रभावित बच्चों की आशा और आंगनवाड़ी घर-घर जाकर चिन्हित करके सूची तैयार करेंगी। ऐसे सभी बच्चों की सूची संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारी को उपलब्ध कराई जाएगी। ऐसे बच्चों को चिन्हित करने के बाद ब्लॉकवार कैंप आयोजित करके डॉक्टरों की टीम द्वारा इनका परीक्षण किया जाएगा तथा अंतिम रूप से बच्चों को चिन्हित करते हुए सूची तैयार की जाएगी। ऐसे बच्चों की विकृतियों को ठीक करने के लिए करेक्टिव सर्जरी का कैंप आयोजित किया जाएगा, जो निःशुल्क होगा।
बैठक में सीडीओ डॉ0 राजेश कुमार प्रजापति, डीडीओ अजीत कुमार श्रीवास्तव, डिप्टी सीएमओ डॉ0 सीएल कनौजिया, डॉ0 सीके वर्मा, प्रभारी सीडीपीओ मिथिलेश बौद्ध, जगदीश शुक्ला, जिला प्रबंधक राकेश पांडे, सभी सीडीपीओ, प्रभारी चिकित्साधिकारी तथा खंड विकास अधिकारी उपस्थित रहे।