Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान परिवहन निगम का बस स्टेशन शहर के बाहर बनवाने का प्रस्ताव शासन को भिजवाने का निर्देश डीएम ने किया ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव तथा पंचायत सहायकों से गांव के लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने... जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों द्वारा 630 आंगनबाड़ी केंद्र गोद लिए जाने से होगा व्यवस्थाओं मे सुधार: स... अपने को एकाग्र करते हुए लक्ष्य पर ध्यान व लक्ष्य को हासिल कर परिणाम दें: डीआईजी प्राथमिक शिक्षक संघ रूधौली का त्रैवार्षिक अधिवेशन सम्पन्न राष्ट्र की उन्नति में पत्रकारों का योगदान अहम-डीएम पति की क्रूरता को नही सहन कर पायी विवाहिता फिर मौत को लगाया गले, आरोपी पति गिरफ्तार मुंबई के व्यापारी ने भाजपा सांसद व फिल्म अभिनेता रवि किशन शुक्ला के हड़प लिए 3.25 करोड़ रुपये, मुकदम...

जच्चा-बच्चा को सुरक्षित रखने के लिए हुई गर्भवती की जांच

पीएम सुरक्षित मातृत्व अभियान —
– महिला अस्पताल, पीएचसी नरहरिया, समेत 14 ब्लॉकों पर हुआ आयोजन
– कार्यक्रम के पर्यवेक्षण के लिए लगाई गई 16 अधिकारियों की ड्यूटी

कबीर बस्ती न्यूज, बस्ती। उ0प्र0।
प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) के तहत जिला महिला अस्पताल, अर्बन पीएचसी नरहरिया समेत सभी 14 ब्लॉकों में ब्लॉक स्तरीय अस्पताल में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जच्चा-बच्चा की सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिए हर माह की नौ तारीख को यह आयोजन अस्पतालों में होता है। गर्भवती का पंजीकरण कराकर उनकी जांच व इलाज कराया जाता है। हाई रिस्क प्रेग्नेंसी वाली महिलाओं को चिन्ह्ति कर उनका सुरक्षित प्रसव अस्पताल में कराया जाता है। केंद्र सरकार की ओर से चलाए गए कार्यक्रम का उद्देश्य मातृ एंव शिशु मृत्यु दर को कम से कम किया जाना है।

प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एफ हुसैन ने बताया कि कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। सभी आयोजन स्थल पर रिप्रोडक्टिव चाइल्ड हेल्थ( आरसीएच) नंबर पंजीकरण के लिए विशेष काउंटर बनाए गए हैं, जिस पर बिना पंजीकरण या पहली बार आने वाली गर्भवती का पंजीकरण किया गया। जिन लाभार्थी के खाते नहीं हैं, उनके खाते खुलवाए जाएंगे। जिन अस्पतालों में एमबीबीएस चिकित्सक की तैनाती है, वहां पर आयोजन किया जाता है। अस्पताल आने वाली महिलाओं का ब्लड प्रेशर, वजन की जांच, शुगर की जांच, खून व पेशाब की आवश्यक जांच, एचआईवी व सिफलिस की जांच कराई गई। इस अवसर पर गर्भवती व माताओं की ग्रुप काउंसिलिंग कर उन्हें परिवार नियोजन व पोषण संबंधी परामर्श दिया गया।

3350 गर्भवती ने कराया है पंजीकरण

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत पिछले महीने तक कुल 3350 गर्भवती ने पंजीकरण कराया है। इसमें से 81 प्रतिशत गर्भवती दूसरी व तीसरी तिमाही में जांच कराने आ चुकी है। डॉ. हुसैन ने बताया कि अब तक कुल 360 हाई रिस्क प्रेग्नेंसी वाली गर्भवती को चिन्ह्ति किया गया है। इन महिलाओं का नियमित रूप से फॉलोअप किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 3292 की हीमोग्लोबीन की जांच, 3034 की एचआईवी जांच और 3011 की सिफलिस की जांच कराई गई।