Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सपा की बैठक में निकाय चुनाव पर चर्चाः जावेद पिण्डारी, समीर चौधरी निकाय चुनाव प्रभारी बने अनिश्चितकालीन पूर्ण कार्य बहिष्कार करने के दृष्टिगत सभी विद्युत उपकेन्द्रों पर जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रे... अवैध अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर दर्ज कराएं एफआईआर: डीएम निकाय चुनाव के लिये ‘आप’ ने झोंकी ताकत, कार्यकर्ता सम्मेलन में बनी रणनीति जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद गोष्ठी के माध्यम से किसानों को दी गयी महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दीदी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा विश्व विकलांग दिवस पर पर दिव्यांगों को किया गया सम्मानित पत्नी के अपहरण की आशंका, पति ने लगाया न्याय की गुहार सिर्फ रक्त और यौन सम्पर्क से फैलता है एड्स, मरीजों से न करें भेदभाव विश्व एड्स दिवस: डीएम ने फीता काटकर किया हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ

कोविड काल में बेहतर हुई स्वास्थ्य सुविधाएं, 7 स्वास्थ्य इकाइयों को कायाकल्प अवार्ड

– जनपद की तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व चार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को पुरस्कार

– जिले की पीएचसी हरैया मुसहरा को 77.95 अंक, मिलेगा दो लाख रुपए का पुरस्कार

कबीर बस्ती न्यूज,संतकबीरनगर।उ0प्र0।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ इन्द्र विजय विश्वकर्मा ने बताया कि कोविड काल के दौरान जिले की स्वास्थ्य सुविधाओं में आधारभूत सुधार हुआ है। इसका सबसे बड़ा प्रमाण जनपद की 7 स्वास्थ्य इकाइयों को कायाकल्प अवार्ड के लिए चयनित किया जाना है। जिले के तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा 4 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को यह पुरस्कार प्राप्त हुआ है। जनपद के स्वास्थ्य अधिकारियो, कर्मचारियों के समन्वित प्रयास का नतीजा है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कायाकल्प अवार्ड में इस बार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मेंहदावल, हैसर बाजार व सेमरियांवा का चयन हुआ है। इन्हें एक – एक लाख रुपए का पुरस्कार मिलेगा। जबकि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के वर्ग में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हरैया मुसहरा को 77.95 अंक मिले हैं तथा इसे दो लाख रुपए का पुरस्कार मिलेगा। वहीं पीएचसी बघौली को 76.80 अंक, दुधारा को 76.55 अंक व परसा पाण्डेय को 71.15 अंक प्राप्त हुए हैं। जिन्हें 50 – 50 हजार रुपए का पुरस्कार मिलेगा। इस बार समिति ने 70 से अधिक अंक प्राप्त करने वाले पीएचसी व सीएचसी का चयन कायाकल्प अवार्ड के लिए किया है। पुरस्कार में मिले 75 प्रतिशत धन का उपयोग स्वास्थ्य इकाई के सुदृढ़ीकरण तथा 25 प्रतिशत धन का उपयोग अस्पताल के स्टाफ के उपर खर्च किया जाएगा।

सम्मानित किए जाएंगे स्वास्थ्य कर्मी

जनपदीय क्वालिटी मैनेजर डॉ अबू बकर बताते हैं कि सीएमओ डॉ इन्द्रविजय विश्वकर्मा, नोडल आफिसर डॉ मोहन झा, सम्बन्धित स्वास्थ्य इकाइयों के अधीक्षक, चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों के समन्वित प्रयास का नतीजा है कि जिले की 7 स्वास्थ्य इकाइयों का चयन कायाकल्प अवार्ड के लिए किया गया है। सभी सम्बन्धित स्वास्थ्य इकाइयों के कर्मियों को इसके लिए सम्मानित किया जाएगा।

पीएचसी बघौली का तीसरी बार चयन

कायाकल्प अवार्ड के लिए जिले की पीएचसी बघौली का चयन तीसरी बार हुआ है। पहली बार 2017- 18, दूसरी बार वर्ष 2018 – 19 व तीसरी बार वर्ष 2020- 21 में हुआ है। वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरियांवा का दूसरी बार चयन किया गया है। पहली बार वर्ष 2018- 19 में जबकि दूसरी बार वर्ष 2020 – 21 में हुआ है। वहीं नगरीय स्वास्थ्य केन्द्र मगहर व कांशीराम आवासीय योजना को दो बार यह पुरस्कार मिल चुका है।

7 मानकों के आधार पर होता है मूल्यांकन

जनपदीय क्वालिटी मैनेजर डॉ अबू बकर बताते हैं कि कायाकल्प अवार्ड के लिए कुल सात मानकों के आधार पर मूल्यांकन किया जाता है। इसमें हास्पिटल की साफ सफाई, वेट मैनेजमेण्ट, संक्रमण नियन्त्रण, सपोर्ट सर्विस, हाईजीन प्रमोशन, परिसर में स्लोगन, हास्पिटल परिसर की सम्पूर्ण व्यवस्था के आधार पर यह चयन किया जाता है। पहले आन्तरिक कमेटी मूल्यांकन करती है, दूसरी बार पीयर असेसमेण्ट तथा अन्त मे 70 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने पर फाइनल मूल्यांकन होता है।