Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
श्री अग्रसेन जी महाराज जयन्ती पर मरीजों में किया फल का वितरण दौड़ में संध्या, अंशू रहीं अव्वल, रेवरादास, निदूरी टीम का रहा दबदबा राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साऊंघाट के  अधिवेशन में उठा पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा 70 की उम्र में दी टीबी को मात..... बीपीएम ने गोद लेकर टीबी मरीज की की थी मदद 1 अक्टूबर को किसान मोर्चा द्वारा बृहद वृक्षारोपण कराने की बनी योजना सांसद ने किया गांव के लोगों के जीवन में गुणात्मक और रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए पूरी ईमानदारी और न... जनपद न्यायाधीश व जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी कार्यालय पर होता है मुख्यमंत्री पोर्टल का मजाक मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान

सास-बहू सम्मेलन में अब बेटे भी होंगे शामिल

– सास-बहू के बीच होगी गुब्बारा प्रतियोगिता, मिलेगा इनाम
कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ 0प्र0।
मिशन परिवार विकास वाले जनपदों में 20 सितम्बर से एक माह तक आयोजित होने वाले सास-बहू सम्मेलन में अब बेटे भी शामिल होंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की ओर से इसे सास-बेटा-बहू सम्मेलन का नाम दिया गया है। यह पहली बार है जब बेटे को भी इस आयोजन में शामिल किया जा रहा है। सम्मेलन में सास-बहू के बीच गुब्बारा व प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। विजेताओं को इनाम भी दिया जाएगा। इस कार्यक्रम का  उद्देश्य लोगों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक बनाना है।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) आरसीएच डॉ. सीके वर्मा ने बताया कि बस्ती जनपद मिशन परिवार विकास वाले जनपदों में शामिल है। जिले में उपकेंद्र स्तर पर आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से वर्ष 2017-18 से सास-बहू सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इसका उद्देश्य सास और बहू के मध्य समन्वय एवं संवाद स्थापित कर उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर परिवार नियोजन कार्यक्रम को रूचिकर बनाना है।  खेल व अन्य गतिविधियों के माध्यम से इसे और बेहतर किया जाएगा। ऐसा करने से प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति अपनी अवधारणाओं, व्यवहार एवं विश्वास में बदलाव आएगा। उन्होंने बताया कि परिवार में प्राय:सभी निर्णय पुरुषों द्वारा लिए जाते हैं, इसे देखते हुए इस बार सम्मेलन में बेटों (बहू के पति) को भी शामिल किया गया है।
इन परिवारों को किया जाएगा आमंत्रित
– एक वर्ष के दौरान के नव विवाहित दंपति
– एक वर्ष के अंदर उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाएं
– परिवार नियोजन का साधन न अपनाने वाले दंपति
– ऐसे दंपति जिनके तीन या तीन से अधिक बच्चे हैं।
– आदर्श दंपति(विवाह से दो वर्ष बाद पहला बच्चा हुआ हो, पहले से दूसरे बच्चे में न्यूनतम तीन वर्ष का अंतर हो, दो बच्चों के बाद परिवार नियोजन का स्थायी साधन अपनाया हो)
गुब्बारे खेल प्रतियोगिता का होगा आयोजन
कार्यक्रम के दौरान आधे घंटे के लिए गुब्बारे का खेल आयोजित किया जाएगा। इस खेल में चार परिवार प्रतिभाग कर सकेंगे। प्रत्येक परिवार को अलग-अलग संख्या में क्रमश: एक, दो, तीन तथा पांच गुब्बारे वितरित किए जाएंगे। खेल के माध्यम से परिवार को सीमित एवं छोटे परिवार का महत्व बताया जाएगा। प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा। सही जवाब देने वाले परिवार को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। आयोजन में आदर्श दंपति के अनुभव को भी साझा किया जाएगा।