Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
श्री अग्रसेन जी महाराज जयन्ती पर मरीजों में किया फल का वितरण दौड़ में संध्या, अंशू रहीं अव्वल, रेवरादास, निदूरी टीम का रहा दबदबा राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साऊंघाट के  अधिवेशन में उठा पुरानी पेंशन नीति का मुद्दा 70 की उम्र में दी टीबी को मात..... बीपीएम ने गोद लेकर टीबी मरीज की की थी मदद 1 अक्टूबर को किसान मोर्चा द्वारा बृहद वृक्षारोपण कराने की बनी योजना सांसद ने किया गांव के लोगों के जीवन में गुणात्मक और रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए पूरी ईमानदारी और न... जनपद न्यायाधीश व जिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से किया राजकीय सम्प्रेक्षण गृह (किशोर) का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी कार्यालय पर होता है मुख्यमंत्री पोर्टल का मजाक मातृ-शिशु स्वास्थ्य के लिए मिसाल बनीं डॉ शशि सिंह 1 से 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा विशेष संचारी रोग नियन्‍त्रण अभियान

मंत्री डा0 महेन्द्र सिंह ने सिद्धार्थनगर में बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों को किया राहत सामग्री वितरण

बाढ प्रभावित प्रत्येक विकास खण्डों मे करें किचन की व्यवस्था, भूखा न रहने पाये कोई प्रभावित व्यक्ति- डाॅ महेन्द्र सिंह
कबीर बस्ती न्यूज,सिद्धार्थनगर।उ0प्र0।

जल शक्ति विभाग (सिंचाई एवं जल संशाधन, बाढ़ नियंत्रण, लघु सिंचाई, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति) मंत्री उ0प्र0 सरकार डा0 महेन्द्र सिंह द्वारा पुलिस लाइन सिद्धार्थनगर में बाढ़ प्रभावित व्यक्तियों को राहत सामग्री वितरण किया गया। इस अवसर पर मंत्री जी के साथ बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) उ0प्र0 डा0 सतीश चन्द्र द्विवेदी, विधायक कपिलवस्तु श्यामधनी राही, डुमरियागंज राघवेन्द्र प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा गोविन्द माधव, जिलाधिकारी दीपक मीणा, पुलिस अधीक्षक डा0 यशवीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी पुलकित गर्ग उपस्थित थे। मंत्री श्री  सिंह ने कहा कि उ0प्र0 सरकार आप के साथ है। आपको सभी को किसी भी प्रकार की परेशानी नही होने पायेगी। इसके लिए जनप्रतिनिधिगण तथा प्रशासन पूरी तत्परता से लगा हुआ है।

इसके पश्चात मंत्री ज डा0 महेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में बाढ़ संबधी कार्यो की समीक्षा बैठक पुलिस लाइन सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए मंत्री जलशक्ति विभाग डा0 महेन्द्र सिंह द्वारा नदियो का जल स्तर की जानकारी प्राप्त की गयी। इसके साथ ही जनपद में बाढ़ प्रभावित तहसीलो तथा बाढ़ के संबध में की गयी कार्यो के बारे में जानकारी चाही गयी। जिलाधिकारी दीपक मीणा ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद के सभी तहसील/विकास खण्ड बाढ़ से प्रभावित है। जिला में बाढ़ प्रभावित गांव 317, मैरूण्ड गांव 115, कृषि क्षेत्र 21001.308 हेक्टेयर बाढ़ से प्रभावित है। जनपद में 69 बाढ़ चैकियां 49 राहत केन्द्र तथा 33 बाढ़ शरणालय है, 71 मेडिकल टीम लगायी गयी है। जनपद की एन0डी0आर.0एफ0 एवं पी0ए0सी0 की टीम सक्रिय है। जनपद में 115 नाव तथा 16 मोटरवोट संचालित है। बाढ़ प्रभावित कुल 5175 निःशुल्क खाद्यान्न पैकेट व 11315 लंच पैकेट व 16972 लीटर पानी का वितरण किया जा चुका है। मा0 मंत्री जल शक्ति डा0 महेन्द्र सिंह ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि ग्राम पंचायत वार ग्राम विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित करते हुए गांव में आवश्यक सुविधाएं कपड़ा, लंच पैकेट, प्रकाश की व्यवस्था, मोबाइल चार्ज तथा पीने के लिए पानी आदि मूल व्यवस्थाओं को कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही इन व्यवस्थाओ की मानीटरिंग खण्ड विकास अधिकारी अपने स्तर से करेंगे। समस्त विकास खण्डो में बाढ़ कन्ट्रोल रूम स्थापित कराने का निर्देश दिया गया। समस्त विकास खण्डो पर किचन की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया, जिससे कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) को बाढ़ प्रभावित गांवो में फसलो का सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने का निर्देश दिया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को मैरूण्ड गांवोेेेेेेेेेेेेेेेेेे में गम्भीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को चिन्हित कर दवाये उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। जिला पंचायत राज अधिकारी को गांवों में फागिंग, साफ-सफाई आदि व्यवस्थाये कराने का निर्देश दिया गया। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रो में पशुओ के लिए भूसा, हरा चारा एवं पशुओ का सुरक्षित स्थान पर रहने की व्यवस्था कराने का निर्देश दिया। पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि बीट इंचार्ज वायरलेस के साथ निगरानी/गस्त करेगे। इसके साथ ही सभी बन्धो की निगरानी करते रहे।

इस अवसर पर उपरोक्त के अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सन्दीप चैधरी, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) सीताराम गुप्ता, अपर पुलिस अधीक्षक सुरेशचन्द्र रावत, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट ओजस्वी राज, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई निर्माण खण्ड, ड्रेनेज खण्ड, विद्युत तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।