Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
सपा की बैठक में निकाय चुनाव पर चर्चाः जावेद पिण्डारी, समीर चौधरी निकाय चुनाव प्रभारी बने अनिश्चितकालीन पूर्ण कार्य बहिष्कार करने के दृष्टिगत सभी विद्युत उपकेन्द्रों पर जोनल/सेक्टर मजिस्ट्रे... अवैध अतिक्रमण करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर दर्ज कराएं एफआईआर: डीएम निकाय चुनाव के लिये ‘आप’ ने झोंकी ताकत, कार्यकर्ता सम्मेलन में बनी रणनीति जयन्ती पर याद किये गये प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद गोष्ठी के माध्यम से किसानों को दी गयी महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दीदी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा विश्व विकलांग दिवस पर पर दिव्यांगों को किया गया सम्मानित पत्नी के अपहरण की आशंका, पति ने लगाया न्याय की गुहार सिर्फ रक्त और यौन सम्पर्क से फैलता है एड्स, मरीजों से न करें भेदभाव विश्व एड्स दिवस: डीएम ने फीता काटकर किया हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ

कर्मचारी, शिक्षक संगठनों ने बनाया आन्दोलन की साझा रणनीति

11 सूत्रीय मांगों को लेकर मोटरसाईकिल जुलूस 5 को  

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी एवं पेंशनर्स अधिकार मंच की बैठक रविवार को विकास भवन सभाकक्ष में प्राथमिक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष चन्द्रिका सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में पुरानी पेेंशन नीति बहाल किये जाने सहित 11 सूत्रीय मांगो को लेकर आन्दोलन की रणनीति तय की गई। प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर आन्दोलन के प्रथम चरण में 5 अक्टूबर मंगलवार को शिव हर्ष किसान पी.जी. कालेज के परिसर में दिन में 12 बजे मोटर साईकिल जुलूस निकाला जायेगा। जुलूस प्रमुख मार्गों से होते हुये जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचेगा जहां डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को 11 सूत्रीय मांग पत्र भेजा जायेगा।
बैठक में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जिलाध्यक्ष मस्तराम वर्मा, माध्यमिक शिक्षक संघ   अध्यक्ष शिवपाल सिंह, कलेक्टेªट मिनीस्ट्रीयल कर्मचारी संघ अध्यक्ष अशोक मिश्र, डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ अध्यक्ष ई. अभिषेक सिंह, कोषागार कर्मचारी संघ अध्यक्ष अखिलेश पाठक, स्टेनोग्राफर महासंघ सचिव डी.एन. वर्मा, ग्राम विकास अधिकारी संघ के मण्डल अध्यक्ष राकेश पाण्डेय, राजस्व संग्रह अमीन संघ अध्यक्ष सन्तोष शुक्ल, दीवानी न्यायालय कर्मचारी संघ के मंत्री चन्द्र मोहन श्रीवास्तव, सफाई कर्मचारी संघ मंत्री मंशा राम, चकबंदी लेखपाल संघ के मंत्री अनिल चौधरी, प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला मंत्री बालकृष्ण ओझा, विकास भवन कर्मचारी संघ अध्यक्ष अजीत सिंह, संयुक्त परिषद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राम अधार पाल के साथ ही अनेक संगठनों के पदाधिकारियों ने सम्बोधित किया। वक्ताओं ने एक स्वर से कहा कि सरकार एस्मा लागू करके कर्मचारियों की आवाज को दबाना चाहती है किन्तु इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पिछले चार वर्षो से लगातार कर्मचारी, शिक्षक हितों की अनदेखी की गई और न्यायोचित मांगों को अनसुना किया जा रहा है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।
विभिन्न संगठनों के साझा बैठक मेें पुरानी पेंशन नीति को बहाल किये जाने, राज्य कर्मचारियों के रोेके गये भत्तों को दिये जाने, दीन दयाल कैशलेश चिकित्सा की सुविधा दिये जाने, दैनिक वेतन, वर्क चार्ज, संविदा, आउट सोर्सिंग के कर्मचारियों को नियमित किये जाने सहित कर्मचारी, शिक्षक संगठनों के अनेक मांगों का मुद्दा छाया रहा। निर्णय लिया गया कि यदि सरकार ने शीघ्र मांगों को पूरा न किया तो प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर आगामी 28 अक्टूबर को बस्ती समेत समूचे प्रदेश के जिला मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया जायेगा। 30 नवम्बर को लखनऊ के ईको पार्क में आयोजित होने वाले महारैली में लाखों की संख्या में कर्मचारी शिक्षक अपने हक की मांग को लेकर जुटेंगे। संचालन संयुक्त परिषद के जिला मंत्री तौलू प्रसाद ने किया।
बैठक में मुख्य रूप से शिव प्रकाश सिंह, मनोज यादव, ओंकार सिंह, प्रवीन श्रीवास्तव, राम सकल यादव, सुधीर तिवारी, गिरीश चन्द्र चौबे, धर्मेन्द्र चौधरी, फैजान अहमद, रामशंकर चौधरी, दीप मणि शुक्ल, श्याम करन यादव, रणंजय सिंह, आशीष कुमार, प्रदीप यादव, सुरेश गौड़, डी.पी. सिंह, अमरेश श्रीवास्तव, राजेश कुमार, रामचरन, भूपेन्द्र सिंह, श्रवण कुमार सिंह, सन्तोष सिंह, अनुरोध श्रीवास्तव, सनद पटेल, अरूण सक्सेना, राजेन्द्र चौधरी, चन्द्रमणि त्रिपाठी, मक्खन लाल, देवेन्द्र सिंह, विकास भट्ट, मुक्तेश्वर यादव आदि शामिल रहे।