Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

कोरोना रोकने के लिए पूरी दुनिया में एक मॉडल बना उत्तर प्रदेश-योगी आदित्यनाथ

कबीर बस्ती न्यूज,,बस्ती।उ0प्र0।

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने शहर के अटल बिहारी वाजपेयी प्रेक्षागृह से प्रचार वाहनों को हरी झंडी दिखाकर संचारी रोग पखवाड़े का शुभारंभ किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि कोरोना रोकने के लिए उत्तर प्रदेश पूरी दुनिया में एक मॉडल बना हुआ है। उन्होने कहा कि यह एक टीम वर्क का परिणाम है। जब सभी लोग एक दिशा में सोंचते हैं और उसके अनुरूप प्रयास करते हैं, तो उसके बेहतर परिणाम आते हैं। इसके पूर्व उन्होने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना को सफलता पूर्वक नियंत्रण करने के उपरांत इस वर्ष हमारा तीसरा संचारी रोग नियंत्रण का विशेष अभियान प्रारंभ हो रहा है, जिसको जनपद बस्ती से पूरे प्रदेश के लिए इसका शुभारंभ करते हुए बहुत आनंद की अनूभूति हुई है।

सीएम योगी ने कहा कि आज से लगभग साढे चार वर्ष पहले हम लोगों ने निरंतर विभागीय समन्वय और जन संवाद के माध्यम से पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिस एक महामारी ने यहां के मासूम को लगभग चार दशक तक अनवरत रूप से निगलने का कार्य किया गया था, उस महामारी के खिलाफ हम लोगों ने अभियान का शुभारंभ किया था और उस समय अंतर विभागीय और जनमानस के साथ संवाद का क्या महत्व होता है हमने इस ताकत को पिछले चार वर्षों में महसूस किया। यदपित पहले चरण में हमारी बस्ती कमिश्नरी गोरखपुर के सात जनपद इस कार्यक्रम और इस प्रयोग के केंद्र स्थल रहे, लेकिन धीरे-धीरे प्रदेश के 38 जनपदों में जहां पर इंस्फेलाइटिस यानी कि दिमागी बुखार से जुड़े हुए मरीज दिखते थे और व्यापक पैमाने पर मौत होती थी, उन सभी स्थलों पर हम लोगों ने इस अभियान को व्यापक रूप में प्रारंभ किया और तीन वर्ष के अंदर हम लोगों ने लगभग दिमागी बुखार को 75 फीसदी तक नियंत्रण करने और मौत के आंकड़ों को 95 प्रतिशत तक नियंत्रित करने में सफलता प्राप्त की कहा कि आज मैं कह सकता हूं कि दिमागी बुखार पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए जो अभिशाप बन चुका था आज वो दिमागी बुखार पूर्वीं उत्तर प्रदेश से उन्मूलन के अंतिम दौर में चल रही है, इस लिए बस्ती का यह कार्यक्रम अत्यंत महत्वूर्ण है।