Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समय से समस्याओं का निराकरण कर हम लोगो की कर सकते है वास्तविक सेवा: गोविंदराजू एन.एस. थाना समाधान दिवस पर डीएम,एसपी ने की जनसुनवाई नवागत मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने मण्डलायुक्त पद का ग्रहण किया कार्यभार सांसद ने किया खेल महाकुंभ तैयारियों का निरीक्षण हर मोड़ पर खरा उतर रहा है भारतीय संविधान-डा. वी.के. वर्मा बाबा साहब के बनाये संविधान को ध्वस्त करना चाहती है केन्द्र व प्रदेश सरकार: प्रेमशंकर द्विवेदी संविधान दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग

सपा नेताओं ने किया लौह पुरूष सरदार पटेल को नमन्

आजादी की लडाई भारत के नव निर्माण में सरदार पटेल का सर्वाधिक योगदान-कृष्णभान

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

समाजवादी पार्टी कार्यालय पर रविवार को लौह पुरूष सरदार पटेल को उनकी जयन्ती पर याद किया गया। सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्रनाथ के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने पटेल जी के जीवन वृत्त, योगदान पर प्रकाश डाला। सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्रनाथ ने कहा कि सरदार पटेल ने भारत की 565 रियासतों का विलय करके अखंड भारत के निर्माण के लिए जो योगदान दिया उसके लिये उन्हें सदैव याद किया जायेगा।
मुख्य अतिथि सपा के वरिष्ठ नेता कृष्णभान सिंह सैथवार ने कहा कि 1947 में भारत को आजादी तो मिली लेकिन बिखरी हुई। देश में कुल 562 रियासतें थीं। अपनी कूटनीतिक क्षमता के बल पर पटेल ने इन्हें भारत में मिला लिया।  इनमें जूनागढ़ रियासत के नवाब ने 1947 में पाकिस्तान के साथ जाने का फैसला किया था। पूर्व विधायक जितेन्द्र कुमार उर्फ नन्दू चौधरी  ने पटेल जी को नमन् करते हुये कहा कि आजकल जिस उम्र में बच्चे गेजुएट हो जाते हैं उस उम्र में सरदार बल्लभ भाई पटेल ने 10वीं की परीक्षा पास की थी। उनकी शिक्षा में सबसे ज्यादा रोड़े परिवार की आर्थिक तंगी ने अटकाए। इसके बावजूद उन्होंने जिलाधिकारी की परीक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त किए। पूर्व विधायक दूधराम ने कहा कि सरदार पटेल वकालत पढ़ने के लिए इंग्लैंड गए वह भी 36 साल की उम्र में। शुरुआत में देर से पढ़ाई शुरू करने वाले सरदार पटेल ने 36 महीने के वकालत के कोर्स को महज 30 महीने में ही पूरा कर दिया। वे देश के महान नेता थे।
पटेल जी को नमन् करने वालों में पूर्व विधायक राजमणि पाण्डेय, मो. जमील, हाफिज इलियास,  सिद्धेश सिन्हा, राजेन्द्र यादव  जावेद पिण्डारी, समीर चौधरी, यज्ञेश पाण्डेय, अरविन्द सोनकर, मो. सलीम, राजेन्द्र चौधरी, मो. शकील,  अरविन्द यादव, कक्कू शुक्ल,  राजवन्त यादव, धर्मराज यादव,  राजेन्द्र यादव, राम प्रकाश चौधरी, मो. जावेद, कविन्द्र चौधरी ‘अतुल’ युनूस आलम, भोला पाण्डेय, ज्ञानचन्द्र चौधरी, अब्दुल मोईन,  शैलेष पाण्डेय, रमेश गौतम,  इन्द्रावती शुक्ल, जुवेदा खातून, श्याम सुन्दर यादव, प्रधान तूफानी, फूलचन्द श्रीवास्तव, देवेन्द्र श्रीवास्तव, रजनीश यादव  दीपक आर्य, उदयभान चौधरी, गुलाब चन्द्र सोनकर, अनिल निषाद, हनुमान प्रसाद चौधरी, विनय विश्वकर्मा, धु्रवचन्द्र चौधरी, कैलाश मिश्र, सूबेदार चौधरी, श्याम सुन्दर यादव, युगुल किशोर चौधरी, रामवृक्ष यादव, मुरलीधर पाण्डेय, आशुतोष चौधरी के साथ ही पार्टी के अनेक पदाधिकारी, कार्यकर्ता आदि शामिल रहे।