Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
मातृ शिशु स्वास्थ्य सेवाओं के लिए वरदान है एमसीपी कार्ड नवजात शिशु में जन्‍मजात विकृतियों को दूर करता है फोलिक एसिड गुरू जी की अकड पडी ढीली कर दिए गये निलम्बित दहेज उत्पीड़न के दो मामलों में 10 ससुरालियों पर केस पेन्शनर एसोसिएशन की बैठक 5 को पुरानी पेशन नीति बहाली की मांग को लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेगे शिक्षक युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य एवं जीवन कौशल पर विशेष कार्यशाला का शुभारम्भ इलाज के दौरान समझा टीबी मरीजों का दर्द,  अब बने मददगार  नोडल अधिकारी नीना शर्मा ने रुधौली ब्लाक में चौपाल लगाकर सुनीं समस्याऐ जिले की नोडल अधिकारी के निरीक्षण में सब कुछ मिला गुड ही गुड

क्लस्टर माडल 2.0 के तहत शुरु हुआ जिले में कोविड टीकाकरण 

– गाँवों  को चिन्हित कर  किया जा रहा है लोगों का टीकाकरण

– 80 प्रतिशत से कम टीकाकरण वाले गाँवों  में कैम्प लगाकर टीकाकरण

कबीर बस्ती न्यूज,संतकबीरनगर।उ0प्र0।

प्रदेश में 15 नवम्बर से  पहले 15 करोड़ पार टीकाकरण नीति के तहत जिले में सोमवार से क्लस्टर माडल 2.0 का शुभारंभ हुआ। इस दौरान गांवों को चिन्हित कर  वहां पर शत प्रतिशत प्रथम डोज के टीकाकरण के साथ ही दूसरे डोज का भी टीकाकरण किया जा रहा है। प्रथम चरण में 80 प्रतिशत से कम टीकाकरण वाले गाँवों  में कोविड वैक्सीनेशन के लिए टीमों को भेजा गया है ।

सीएमओ डॉ इन्द्रविजय विश्वकर्मा ने बताया कि प्रदेश में 15 नवम्बर से पहले 15 करोड़ कोविड टीकाकरण के लिए क्लस्टर  माडल 2.0 की शुरुआत सोमवार  से की गई है। क्लस्टर मॉडल के माध्यम से गांवों को उनके टीकाकरण की स्थिति के आधार पर  श्रेणियों में बांटा गया है । जिन गांवों ने दोनों खुराकें पूरी कर ली हैं, उन्हें कोविड सुरक्षित गांव कहा जाएगा।  टीकाकरण मूल्यांकन के आधार पर, सभी गांवों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है।  पहला जिनमें 95 प्रतिशत या उससे अधिक पहली खुराक टीकाकरण, दूसरा 80-95 प्रतिशत पहली खुराक टीकाकरण और तीसरा 80 प्रतिशत से कम पहली खुराक टीकाकरण किया गया है। आज 80 प्रतिशत से कम पहली खुराक वाले गाँवों  को चिन्हित कर  वहां पर कोविड वैक्सीनेशन के लिए कैम्प लगाया गया। इसके लिए कार्ययोजना जिला स्तर पर बनाई गई है। इसके साथ ही गांव की आशा कार्यकर्ताओं के जरिए जिन गांवों में कैम्प लगाया जा रहा है वहां पर पहले ही सूचना दे दी गई है ताकि अधिक से अधिक लोग मौजूद रहकर अपने घर के नजदीक ही टीकाकरण करवा लें।  जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एस रहमान ने बताया कि दूसरी डोज की रफ्तार बढ़ाने के लिए टीकाकरण की व्यवस्थाएं फिक्स बूथ क्लस्टर अप्रोच, मेगा वैक्सीनेशन डे पहले की तरह लागू रहेंगे।

पर्यवेक्षण करते रहे  अधिकारी

क्लस्टर  माडल 2.0 के पर्यवेक्षण के लिए ब्लाक स्तर पर अधिकारियों की जिम्मेदारियां तय की गई हैं। अधिकारी इन्हीं के आधार पर टीकाकरण कार्यक्रम का पर्यवेक्षण करते रहे। इसके तहत मेंहदावल में जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ राम प्रसाद मौर्या, नाथनगर में डीपीएम विनीत श्रीवास्तव, सेमरियांवा में जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एस डी ओझा, खलीलाबाद में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एस रहमान, बघौली में एसीएमओ वेक्टर बार्न डिजीज डॉ वी पी पाण्डेय, बेलहर कला में डॉ जन्मेजय सिंह, हैसर व पौली में डीसीपीएम संजीव कुमार व डीआईईसी मैनेजर पिण्टू कुमार, नगरीय क्षेत्र में अरबन हेल्थ कोआर्डिनेटर सुरजीत सिंह , सांथा में आरकेएसके कोआर्डिनेटर दीन दयाल वर्मा, व संयुक्त जिला चिकित्सालय में सुमन शुक्ला सहयोगात्मक पर्यवेक्षण का काम करती रहीं।