Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

अब तक जिले में मिले एईएस के 56 तथा जेई के 03 केस

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

जिले में जनवरी 2021 से अबतक एईएस के 56 तथा जेई के 03 केस मिले है। उक्त जानकारी जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने दिये है। उन्होने बताया कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान 19 अक्टॅूबर से संचालित किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत घर-घर जाकर सर्वे में 729 बुखार के रोगी मिले है। मलेरिया की 495 लोगों की जॉच करायी गयी है, जिसमें से केवल 04 मलेरिया पाजिटिव मिले है। जिनको इलाज के लिए संबंधित सीएचसी/पीएचसी भेजा गया है।
उन्होने बताया कि अभियान के दौरान 736 सर्दी, खासी एवं बुखार के लक्षण वाले लोगों की कोविड जॉच करायी गयी तथा सभी निगेटिव पाये गये। उन्होने बताया कि अभियान के दौरान 8962 में से 8232 स्वयं सहायता समूहों की बैठक करायी गयी तथा उन्हें जागरूक किया गया। 2274 में से 2208 आशा प्रशिक्षित की गयी। सभी 1185 ग्राम पंचायतों में बीएसएनसी की बैठक करायी गयी। आशा एवं आगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा 420578 घरों का भ्रमण किया गया तथा 3234 मातृ बैठक करायी गयी। 1429 के सापेक्ष 1360 बीएचएनडी दिवस आयोजित करके एईएस परचर्चा की गयी। 3028 स्थानों पर पानी को क्लोरिनेशन करने के लिए डेमो किया गया।
उन्होने बताया कि अभियान के दौरान क्षय रोग के संभावित 124 लोगों को चिन्हित किया गया। इस दौरान 135 अतिकुपोषित बच्चे चिन्हित किए गये जिसमें से 57 पोषण पुनर्वास केन्द्र इलाज के लिए भेजे गये। उन्होने बताया कि शासन के निर्देश पर प्रति सप्ताह सीएमओ द्वारा अभियान की समीक्षा बैठक आयोजित की जा रही है तथा अधिकारियो को अभियान की सफलता के लिए प्रेरित किया जा रहा है।