Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

ऐश्प्रा जेवलर्स पर दो माह बाद धोखाधडी का मुकदमा

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।
गांधीनगर स्थित एस्प्रा ज्वैलर्स के विरूद्ध घटतौली की शिकायत पर बांटमाप विभाग ने धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया है। विधिक माप विज्ञान के वरिष्ठ निरीक्षक अशोक कुमार सिंह की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने इलेक्ट्रानिक कांटे से तौल में धोखाधड़ी करने का मुकदमा दर्ज किया है।
बता दें कि 4 सितम्बर को शहर के प्रतिष्ठित ज्वेलरी की दुकान एस्प्रा ज्वैलर्स पर ज्वेलरी खरीदने आए रिटायर्ड फौजी लालगंज थाना क्षेत्र के रोवागोवां निवासी गंगा यादव ने घटतौली की षिकायत की। बताया कि आभूषण खरीद के बाद बिल कटवाया और आभूषण लेने से पहले उन्होंने एक बार फिर से उसका इलेक्ट्रिक भार मशीन पर तौल देख लिया जो बिल में अंकित आभूषण के भार से भिन्न बता रहा था। इसकी दुकानदार से शिकायत की, जिस पर कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया। शिकायतकर्ता रिटायर्ड फौजी गंगा प्रसाद यादव ने बताया था कि पिछले तीन साल से गांधी नगर के एस्प्रा ज्वेलर्स की दुकान से आभूषण खरीद रहा है। आज भी वह सोना और चांदी खरीदने के लिए आया था। आभूषण खरीदने के बाद उसने तौल के हिसाब से भुगतान करने के लिए काउंटर तक गया, वहा उसे कुछ शक हुआ तो उसने एक बार फिर से सेल्स मैन से खरीदे गए आभूषण की तौल करने को कहा, जिस पर दुकान मालिक ने पहले तो आनाकानी की मगर जब वह अड़ गया तो मजबूरी में एक बार से इलेक्ट्रॉनिक मशीन पर वजन करना पड़ा। जिस के बाद दुकान मालिक का फर्जीवाड़ा खुलकर सामने आ गया। तौल मशीन में आभूषण का अलग अलग वजन बताने लगा,  जितना आभूषण खरीदा गया था दोबारा तौल में उसके वजन में अंतर पाया गया।  तौल में घटतौली की शिकायत एसडीएम सदर से करने के बाद मौके पर एसडीएम सदर भी पहुंचे, बांट-माप विभाग की टीम ने पहुंचकर छानबीन करते हुए पिछले एक महीने में हुए आभूषण बिक्री का ब्योरा दुकानदार से जमा करने को कहा था। मौके पर पहुंचे विधिक माप विज्ञान के वरिष्ठ निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने शिकायत की सत्यता की जांच के लिए खरीदे गए ज्वैलरी की फिर से तौल कराई तो उसमें मानक से अधिक अंतर मिला था। इसके बाद इलेक्ट्रॉनिक तौल मशीन को सील करने की कार्रवाई की गई थी। मामले में दो माह बाद मुकदमा दर्ज कराया गया है।