Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
आपदा प्रबंधन क्षमता एवं सम्बवर्धन के तहत प्राथमिक चिकित्सा पर एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित जो लोग फ्री में ‘बिजली’ देने की बात करते हैं, उन्होंने उत्तर प्रदेश को ‘अंधेरे’ में रखा: सीएम योगी तीन जिलों के डीएम व दो जिलों के एसपी हटा कर की गयी नई तैनाती रोड शो, पद-यात्रा, रैली तथा जुलूस 31 जनवरी तक रहेंगे प्रतिबन्धित अमेरिका के वैज्ञानिक जर्नल में प्रकाशित हुआ बस्ती के हर्षित का शोध पत्र यूपी चुनाव: ब्राह्मणों को साधने में जुटी BJP में अखिलेश ने लगाई सेंध, सपा का MYB फॉर्मूला बढ़ाएगा यो... परम्परागत एवं सादगीपूर्ण ढंग से मनाया जायेगा 73वां गणतंत्र दिवस पुण्यतिथि पर याद किये गये प्रखर समाजवादी जनेश्वर मिश्र भाजपा ने देश को बेरोजगारी दिया, कांग्रेस का भर्ती विधान घोषणा पत्र युवाओं का भविष्य संवारेगा- अंकुर ... वरिष्ठ पत्रकार रामसेवक पाण्डेय के निधन पर पत्रकारों ने जताया शोक

डीएम सौम्या के प्रयासों से ठीक हुई दो वर्षों से खराब पड़ी सिटी स्कैन मशीन

  • महर्षि वशिष्ठ राजकीय मेडिकल कॉलेज से संबद्ध ओपेक कैली अस्पताल की 02 वर्षों से खराब पड़ी थी सिटी स्कैन मशीन

बस्ती।  जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल के प्रयासों से महर्षि वशिष्ठ राजकीय मेडिकल कॉलेज से संबद्ध ओपेक कैली अस्पताल की 02 वर्षों से खराब पड़ी सिटी स्कैन मशीन ठीक हो गई है। इससे कोविड-19 के संक्रमित मरीजों की जांच में सुविधा होगी। उनके फेफड़ों की वास्तविक स्थिति की जानकारी हो सकेगी।
उल्लेखनीय है कि विगत 02 वर्षों से यहां की सीटी स्कैन मशीन खराब पड़ी हुई थी। इसके कारण मरीजों को परेशान होना पड़ता था तथा आवश्यकता होने पर बाहर से सिटी स्कैन कराना पड़ता था। इस मशीन के ठीक हो जाने से सबसे ज्यादा सुविधा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए होगी। सिटी स्कैन से इनके फेफड़ों की वास्तविक स्थिति की जानकारी मिल सकेगी तथा उनका समुचित इलाज समय से हो सकेगा। इस संबंध में प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ० नवनीत कुमार ने बताया कि सिटी स्कैन मशीन ठीक होने से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की जांच में सुविधा होगी।
उन्होंने बताया कि पिछले काफी दिनों से यहां का एक ट्रांसफार्मर भी खराब था जिसके कारण बिजली न रहने पर वहां भर्ती मरीजों को एवं स्टाफ को काफी दिक्कत होती थी। प्रयास करके इस ट्रांसफार्मर को भी ठीक कराया गया है तथा इसकी स्थापना कर दी गई है। इसके कारण अब यहां के मरीजों एवं स्टाफ को बिजली की किल्लत नहीं झेलनी पड़ेगी। यदि एक ट्रांसफार्मर खराब भी होता है तो दूसरे ट्रांसफार्मर से बिजली प्राप्त होगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना काल में सभी स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं, स्टाफ, उपकरण, मशीन, वाहन और अन्य सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है,। प्रत्येक कार्य के लिए अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है। उन्होंने लोगों से धैर्य बनाए रखते हुए सहयोग की अपील किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित घर में आइसोलेट, एल-1 एवं एल-2 अस्पतालों में भर्ती मरीज और उनके तीमारदार डॉक्टर के सुझाव का पालन करें। डॉक्टर एवं स्टाफ उनके हित में कार्य करेंगे। किसी प्रकार की समस्या होने पर कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के नंबर 05542-245672 पर कॉल करके डॉक्टर से वार्ता कर सकते हैं। कमांड सेंटर में 24 घंटे डॉक्टर की तैनाती रहती है जो किसी मरीज द्वारा फोन किए जाने पर आवश्यक जानकारी एवं सुझाव देते हैं

Leave A Reply

Your email address will not be published.