Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

उपभोक्ता दिवस पर उपभोक्ता जागरूकता गोष्टी का आयोजन

उपभोक्ताओं के अधिकार के बारे में किया जागरूक

कबीर बस्ती न्यूजः

बस्ती । दीदी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा अंतरराष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस पर सिविल लाइंस कैंप कार्यालय पर एक उपभोक्ता जागरूकता गोष्टी का किया आयोजन गोष्टी में सामाजिक कार्यकर्ता श्री प्रकाश पांडे ने उपभोक्ताओं के अधिकार के बारे में बताते हुए कहा कि जब तक आप अपने आप को जागरूक नहीं हो जाएंगे अपने अधिकारों के बारे में ज्ञान नहीं प्राप्त करेंगे तब तक आपके साथ अन्याय होता रहेगा ।उन्होंने जोर देते हुए कहा कि हिंदुस्तान में 10 % उपभोक्ताओं को ही अपने अधिकार के बारे में जानकारी है इस प्रतिशत को हर हाल में बढ़ाना होगा।

दीदी चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष मनोज सिंह ने24 दिसंबर 1986 को भारत के राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृत उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के बारे में विधिवत चर्चा करते हुए कहा कि उपभोक्ता को हर हाल में अपने अधिकारों के बारे में जानकारी प्राप्त करना होगा उपभोक्ता उस व्यक्ति को कहते हैं जो विभिन्न वस्तुओं एवं सेवाओं का या तो उपभोग करता है अथवा उनको उपयोग में लाता है । उन्होंने कहा कि भारत में उपभोक्ता का अधिकार, सूचना का अधिकार, चुनने का अधिकार सुने जाने का अधिकार, निवारण का अधिकार, उपभोक्ता शिक्षा का अधिकार प्राप्त है प्रन्तु जब तक इन अधिकारों उपभोक्ता कर्तव्यो को हम गांव के आखिरी व्यक्ति तक नहीं पहुंचा लेंगे तब तक उपभोक्ता अधिकार पूरा नहीं होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता हरिओम चौधरी ने तथा संचालन पंकज कुमार ने किया।

कार्यक्रम में गणेश चौरसिया, रोहित कुमार, नरेश मिश्रा, सतीश बरनवाल ,सत्येंद्र जयसवाल, फूलचंद कनौजिया ,रामू सहित दर्जनों लोग थे।