Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
कुपोषण के साथ बीमारियों से भी बचाती है कीड़े मारने की दवा माध्यमिक शिक्षक संघ का वार्षिक सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी सम्पन्न 7 दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान 13 सेः भूमि पूजन में उमड़े श्रद्धालु पूंजीपती मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिये देश के आर्थिक ढांचे का सत्यानाश कर रहे हैं पीएम: प्रेमशंक... प्रभारी मंत्री राकेश सचान 08 फरवरी को बस्ती में मण्डल में स्थापित किए जायेंगे 31 एग्री जंक्शन निर्माण कार्य अपूर्ण पाये जाने से डीएम खफा: वेतन रोकने के निर्देश “बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं‘‘जन जागरूकता वाहन को डीएम ने दिखाई हरी झण्डी चित्रांश क्लब की ओर से ‘एक शाम शहीदों के नाम’’ कार्यक्रम आयोजित नहीं सुनी जा रही हैं पेन्शनर्स की समस्याः दिया आन्दोलन की चेतावनी

संगीतमयी सांई कथा में उमड़ी आस्था

भक्तों ने किया अभिषेक, निकली पालकी

कबीर बस्ती न्यूजः

बस्ती।  गुरूवार को सांई कृपा संस्थान द्वारा गौरीदत्त धर्मशाला के सभागार में एक दिवसीय संगीतमयी सांई कथा का आयोजन सांई सेवक उमाशंकर जी महराज के सानिध्य में सम्पन्न हुआ। दोपहर में गौरीदत्त धर्मशाला से होते हुये सांई पालकी निकाली गई जिसमें संरक्षक एवं सदर विधायक महेन्द्रनाथ यादव के साथ ही बड़ी संख्या में सांई भक्तों ने हिस्सा लिया।
कथा व्यास सांई सेवक उमाशंकर जी महराज ने सांई जी के जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि साईं बाबा ने अपना पूरा जीवन फकीरों की तरह जनकल्याण का काम करते हुए व्यतीत कर दिया। आज भी साईं भक्त अपनी हर समस्याओं के समाधान के लिए साईं दरबार पहुंच जाते हैं। साईं बाबा की पूजा के लिए गुरुवार का दिन सबसे खास है। कहा कि भारत में कई ऐसे पूज्य संत हुए हैं, जिनके चमत्कार न सिर्फ जीवनकाल के दौरान बल्कि उनके द्वारा समाधि लेने के बाद भी जारी हैं। शिरडी के साईं बाबाएक ऐसी दिव्य आत्मा हैं, जिनके दरबार में जाने वाला भक्त खाली हाथ नहीं जाता है।
कथा से पूर्व सांई सेवक उमाशंकर जी महराज के सानिध्य में श्री सांई बाबा का अभिषेक, श्री सांई स्तवन मंजरी पाठ, श्री सांई सर्व मनोकामना सिद्ध यज्ञ कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आस्थावान श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया।
श्री सांई पालकी के साथ ही अनेक आयोजनों में मुख्य रूप से, मनोज कुमार श्रीवास्तव, विनोद कुमार श्रीवास्तव, अंकुर वर्मा, अमृतपाल सिंह ‘सनम’ सिद्धेश कुमार सिन्हा, रामभवन यादव, भोला पाण्डेय, राजन गुप्ता, प्रमोद श्रीवास्तव, गौरीशंकर यादव, प्रकाश श्रीवास्तव, अब्दुल रहमान, राजेश चित्रगुप्त, रीतेश यादव, मो. शाहिद, आशुतोष श्रीवास्तव, भोला यादव के साथ ही अनेक श्रद्धालु शामिल रहे।