Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समय से समस्याओं का निराकरण कर हम लोगो की कर सकते है वास्तविक सेवा: गोविंदराजू एन.एस. थाना समाधान दिवस पर डीएम,एसपी ने की जनसुनवाई नवागत मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने मण्डलायुक्त पद का ग्रहण किया कार्यभार सांसद ने किया खेल महाकुंभ तैयारियों का निरीक्षण हर मोड़ पर खरा उतर रहा है भारतीय संविधान-डा. वी.के. वर्मा बाबा साहब के बनाये संविधान को ध्वस्त करना चाहती है केन्द्र व प्रदेश सरकार: प्रेमशंकर द्विवेदी संविधान दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग

निःशुल्क चिकित्सा शिविरों में हो रहा है एचआईवी की जाँच

बस्ती – उ०प्र० राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी, लखनऊ के सहयोग एवं जिला स्वास्थ्य समिति, बस्ती के दिशा-निर्देशन में लिंक वर्कर स्कीम परियोजना के अंतर्गत निःशुल्क स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन ग्रामीण विकास सेवा समिति द्वारा जनपद बस्ती के 10 विकास खण्डों के 16 गावों में किया जा रहा है। बताया कि शिविर में एचआईवी की जाँच भी करायी जा रही है ।
अम्बुज कुमार डिस्ट्रिक्ट रिसोर्स पर्सन ने बताया की शिविर के दौरान मुख्यतः प्रवासी एवं उनकी पत्नी, ट्रक ड्राईवर एवं उनकी पत्नी, टीबी मरीज, गर्भवती महिला, उच्च जोखिम वाले महिला एवं पुरुष की वरीयता के आधार पर एचआईवी की जाँच की जा रही है । शिविर के दौरान सामान्य बीमारियों के तत्काल निवारण हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों से डॉक्टर, एलटी, काउंसलर एवं अन्य सहयोगियों को दवाओं सहित शिविर में उपस्थित होने एवं शिविर में अपनी सेवाओं को प्रदान करने हेतु जिला क्षय रोग अधिकारी, बस्ती द्वारा निर्देशित किया गया है । निःशुल्क स्वाश्थ्य शिविर 15 मार्च से चल रहा है और यह 31 मार्च 2021 तक चलेगा ।
संस्था सचिव राम ललित यादव ने बताया कि शिविर के दौरान भी लोगों को एचआईवी से बचाव के तरीकों को साँझा किया जा रहा एवं प्रशिक्षित काउंसलर द्वारा यौन जनित रोग के बारे में जानकारी दी जा रही है । उन्होंने बताया कि शिविर के दौरान अभी तक कुल 02 एचआईवी रिएक्टिव निकले है लिंक वर्कर स्कीम के कार्यकर्ताओं द्वारा उनको एआरटी सेंटर जिला चिकित्सालय बस्ती से लिंक किया जायेगा ताकि एआरटी सेंटर की टीम उनको समय से दवा एवं उनकी काउन्सलिंग कर सके ।