Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
यूपी की भाजपा सरकार को तिरंगा यात्रा भी लगता है अवैध- संजय सिंह जागरूकता का परिचय दें अन्त्योदय कार्ड धारक, बनवाएं आयुष्मान कार्ड 30 अक्टूबर तक जिले के सभी बैंक शाखाओं पर आयोजित किया जायेंगा कैम्प सपा की मासिक बैठक में बनी रणनीति इस बार दीपवाली में 11 फिट के दिये के साथ जगमगाएगा अमहट घाट श्रमिको के लिए कल्याणकारी योजनाओं को संचालित कर रही है प्रदेश सरकार-सुनील कुमार भराला टीकाकरण कर्मियों की लगन का फल है सफल टीकाकरण एक माह में नौ हजार अंत्योदय लाभार्थियों ने किया आवेदन श्री रामलीला महोत्सव में गुरुवार को राम बारात एवं राम विवाह का किया गया मंचन 100 करोड़ कोविड टीकाकरण में जिले ने दिया 8.55 लाख का योगदान

सुरक्षात्मक दृष्टि से जिले मे लगा नाइट कर्फ्यू,कडाई से पालन कराने के निर्देश

– रात 10.00 बजे से प्रातः 6.00 बजे तक रहेगा नाइट कर्फ्यू

बस्ती। कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमित केस के मद्देनजर जिले में नाइट कर्फ्यू लगाने की स्थिति हो गई है। उक्त जानकारी जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने दिया है। उन्होंने बताया कि 14 अप्रैल की रात 12.00 बजे तक कुल 106 केस जिले में आए हैं। शासन के निर्देशानुसार 100 के अधिक केस आने पर सावधानी के तौर पर सुरक्षात्मक दृष्टि से नाइट कर्फ्यू रात 10.00 बजे से प्रातः 6.00 बजे तक लगाया जाएगा। इस दौरान सभी दुकानें प्रतिष्ठान बंद रहेंगे तथा आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी व्यक्तियों के आने-जाने पर रोक रहेगी।
उन्होंने बताया कि जिले में बढ़ते हुए संक्रमित केसेज को देखते हुए आज से मुंडेरवा सीएचसी को एल-1 कोविड-19 अस्पताल के रूप में संचालन पुनः शुरू किया जा रहा है। इसके अलावा सदर एवं हर्रैया तहसील में 02-02 तथा भानपुर एवं रुधौली तहसील में 01-01 एल-1 अस्पताल शुरू किया जाएगा। यह सभी एल-1 हॉस्पिटल सीएचसी या पीएचसी पर संचालित किए जाएंगे। इसकी तैयारी करने के लिए सीएमओ तथा एमओआईसी को निर्देशित कर दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि जिले के सभी सीएचसी पर 30 बेड का ऑक्सीजन युक्त वार्ड स्थापित है। यहां पर मरीजों को भर्ती करके उनका समुचित इलाज करने की पूरी सुविधाएं हैं। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों जिनके पास थर्मामीटर या पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध नहीं है, उन्हें नजदीक के सीएचसी में भर्ती किया जाएगा। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि 10 बेड का अलग वार्ड बनाकर डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी लगाएं, मरीजों के निशुल्क भोजन एवं नाश्ते की व्यवस्था कराएं। उन्होंने संबंधित एसडीएम तथा बीडीओ को भी निर्देशित किया है कि वे एल-1 हॉस्पिटल की व्यवस्था का निरीक्षण कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं।
जिलाधिकारी ने कहा कि ओपेक कैली हॉस्पिटल में वर्तमान समय में कुल 164 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज है। 20 मरीज स्वस्थ होकर 15 अप्रैल को डिस्चार्ज हुए हैं। यहां पर 300 बेड हैं और प्रत्येक बेड पर पाइप लाइन द्वारा ऑक्सीजन पहुंचाने की व्यवस्था है। उन्होंने 60 अतिरिक्त बेड पर पाइप लाइन से ऑक्सीजन पहुंचाने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि टेलीमेडिसिन व्यवस्था शुरू की जाए। इसके अंतर्गत विकास भवन स्थित कोविड-19 कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में 24 घंटे डॉक्टर उपस्थित रहेंगे। कंट्रोल रूम के नंबर- 05542-287774 पर फोन करके कोई भी करोना संक्रमित व्यक्ति डॉक्टर से परामर्श कर सकेगा।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कोरोना के लक्षण बुखार, खांसी, सर्दी-जुकाम तथा सांस फूलने की स्थिति में एंटीजन टेस्ट करा कर ही उस व्यक्ति का टीकाकरण किया जाए। उन्होंने जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ० फखरेयार हुसैन को निर्देश दिया कि सभी 111 कोविड-19 टीकाकरण  केंद्र  पर समय से टीका उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। डॉक्टर हुसैन ने बताया कि वर्तमान समय में लगभग 15000 टीके उपलब्ध है, जिनको सभी केंद्रों पर उपलब्ध कराया गया है।
जिलाधिकारी ने जिले में आए हुए प्रवासी लोगों की सैंपलिंग न कराने पर असंतोष व्यक्त किया है। समीक्षा में उन्होंने पाया कि लगभग 1000 से अधिक प्रवासी जिले में आ चुके हैं, मगर अभी तक मात्र 250 प्रवासियों का सैंपल लेकर टेस्ट के लिए भेजा गया है। बस्ती सदर एवं कप्तानगंज में यह संख्या भी शून्य है। उन्होंने टीका की वेस्टेज रोकने का भी अधिकारियों को निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने प्राइवेट हॉस्पिटलों में कोविड-19 के टीकाकरण के रिपोर्ट प्राप्त कर प्रस्तुत करने का निर्देश डॉ० सीएल कन्नौजिया को दिया है। उन्होंने बताया कि 110 में से 72 निजी चिकित्सालयों ने रिपोर्ट उपलब्ध कराया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि टीकाकरण की डाटा एंट्री सेम डे कराना सुनिश्चित करें।
समीक्षा में जिलाधिकारी ने पाया कि कुदरहा, बहादुरपुर, बस्ती सदर, रामनगर में दैनिक टीकाकरण काफी कम हो रहा है। जिलाधिकारी ने इसके लिए कार्ययोजना के अनुसार कर्मचारियों का लक्ष्य निर्धारित करने तथा उसके अनुसार लोगों को टीकाकरण केंद्र तक लाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक ब्लॉक प्रतिदिन 700 लोगों का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सप्ताह में 03 दिन ब्लॉक तथा अन्य 03 दिन कोटेदार के माध्यम से लोग टीकाकरण केंद्र पर आएंगे।
जिलाधिकारी ने अनट्रेस्ड केसेस की समीक्षा करते हुए इनके मोबाइल नंबर सर्विलांस इंस्पेक्टर को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है । उन्होंने निर्देश दिया कि रैपिड रिस्पांस टीम द्वारा विजिट किए गए होम आइसोलेटेड मरीजों की रिपोर्ट सेम डे एप पर अपलोड कराना सुनिश्चित करें। बैठक में सीडीओ डॉ० राजेश प्रजापति, सीएमओ डॉ० अनूप कुमार, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंदकिशोर कलाल, उप जिलाधिकारी आनंद श्रीनेत, डॉ० सीके वर्मा, डॉ० राकेश मणि त्रिपाठी, डॉ० अजीत कुमार कुशवाहा, जिला विकास अधिकारी अजीत श्रीवास्तव, कृषि अधिकारी संजेश श्रीवास्तव, प्रभारी चिकित्साधिकारी गण तथा खंड विकास अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.