Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

डीएम सौम्या के प्रयासों से ठीक हुई दो वर्षों से खराब पड़ी सिटी स्कैन मशीन

  • महर्षि वशिष्ठ राजकीय मेडिकल कॉलेज से संबद्ध ओपेक कैली अस्पताल की 02 वर्षों से खराब पड़ी थी सिटी स्कैन मशीन

बस्ती।  जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल के प्रयासों से महर्षि वशिष्ठ राजकीय मेडिकल कॉलेज से संबद्ध ओपेक कैली अस्पताल की 02 वर्षों से खराब पड़ी सिटी स्कैन मशीन ठीक हो गई है। इससे कोविड-19 के संक्रमित मरीजों की जांच में सुविधा होगी। उनके फेफड़ों की वास्तविक स्थिति की जानकारी हो सकेगी।
उल्लेखनीय है कि विगत 02 वर्षों से यहां की सीटी स्कैन मशीन खराब पड़ी हुई थी। इसके कारण मरीजों को परेशान होना पड़ता था तथा आवश्यकता होने पर बाहर से सिटी स्कैन कराना पड़ता था। इस मशीन के ठीक हो जाने से सबसे ज्यादा सुविधा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए होगी। सिटी स्कैन से इनके फेफड़ों की वास्तविक स्थिति की जानकारी मिल सकेगी तथा उनका समुचित इलाज समय से हो सकेगा। इस संबंध में प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ० नवनीत कुमार ने बताया कि सिटी स्कैन मशीन ठीक होने से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की जांच में सुविधा होगी।
उन्होंने बताया कि पिछले काफी दिनों से यहां का एक ट्रांसफार्मर भी खराब था जिसके कारण बिजली न रहने पर वहां भर्ती मरीजों को एवं स्टाफ को काफी दिक्कत होती थी। प्रयास करके इस ट्रांसफार्मर को भी ठीक कराया गया है तथा इसकी स्थापना कर दी गई है। इसके कारण अब यहां के मरीजों एवं स्टाफ को बिजली की किल्लत नहीं झेलनी पड़ेगी। यदि एक ट्रांसफार्मर खराब भी होता है तो दूसरे ट्रांसफार्मर से बिजली प्राप्त होगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना काल में सभी स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं, स्टाफ, उपकरण, मशीन, वाहन और अन्य सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है,। प्रत्येक कार्य के लिए अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है। उन्होंने लोगों से धैर्य बनाए रखते हुए सहयोग की अपील किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित घर में आइसोलेट, एल-1 एवं एल-2 अस्पतालों में भर्ती मरीज और उनके तीमारदार डॉक्टर के सुझाव का पालन करें। डॉक्टर एवं स्टाफ उनके हित में कार्य करेंगे। किसी प्रकार की समस्या होने पर कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के नंबर 05542-245672 पर कॉल करके डॉक्टर से वार्ता कर सकते हैं। कमांड सेंटर में 24 घंटे डॉक्टर की तैनाती रहती है जो किसी मरीज द्वारा फोन किए जाने पर आवश्यक जानकारी एवं सुझाव देते हैं