Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

बाल सेवा योजना का लाभ पात्र बच्चों को दिलाना सुनिश्चित कराएं अधिकारीः डाॅ0 सुचिता चतुर्वेदी

बस्ती मण्डल मे चिन्हित किये गये इस प्रकार के 75 बच्चे

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।

बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य डाॅ0 सुचिता चतुर्वेदी ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे आपसी समन्वय स्थापित करके मा0 मुख्यमंत्री द्वारा घोषित बाल सेवा योजना का लाभ पात्र बच्चों को दिलाना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि कोरोना के कारण निराश्रित हुए बच्चों के भरण पोषण, शिक्षा एवं सुरक्षा का लाभ दिलाया जाय। उन्होेने महिला एवं बाल विकास, बेसिक शिक्षा, श्रम, पुलिस, स्वास्थ्य, आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि ऐसे निराश्रित बच्चों को विभागीय योजनाओं का भी लाभ दिलायें। वे सर्किट हाउस सभागार में मण्डलीय समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रही थी। समीक्षा में उन्होने पाया कि पूरे मण्डल में अब तक इस तरह के 75 बच्चे चिन्हित हैं।
उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्र्तगत माता-पिता या दोनों में से एक की कोविड से मृत्यु होने पर बच्चों का संरक्षण सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा किया जायेगा। उन्होने कहा कि ऐसे बच्चों को प्राथमिकता पर चिन्हित किया जाय, इसके लिए सीएमओ से सूची प्राप्त किया जाय। ऐसे परिवारों को विधवा पेेंशन, राशन कार्ड, शौचालय निर्माण, कन्या सुमगला योजना, श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ भी दिलाया जायेगा। ऐसे परिवारों का अटल आवास योजना के अन्र्तगत आवास भी बनवाया जायेगा। इस कार्य में बाल कल्याण समिति का सहयोग लिया जायेगा।
उन्होेने तीनो जनपदों के प्रोबेशन अधिकारी, पुलिस, बेसिक शिक्षा, श्रम प्रर्वतन अधिकारी, बाल कल्याण समिति, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए इसके क्रियान्वयन में तेजी लाने का निर्देश दिया है। उन्होने अधिकारियोे को यह भी निर्देश दिया कि समय-समय पर इन बच्चों से भेंट करके इनकी समस्याओं का निदान करें। बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र नाथ चैधरी, बीएसए जगदीश शुक्ल, एसीएमओ डाॅ0 फकरेयार हुसैन एवं डाॅ0 सी0के0 वर्मा, डी0एस0 यादव, तीनों जिलोें के बाल कल्याण समिति के पदाधिकारी, विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।
उन्होने बताया कि जिलाधिकारी से भेंट करके नगर पालिका द्वारा संचालित पचपेड़िया रोड स्थित आश्रय स्थल की ऊपरी एक मंजिल बाल संरक्षण गृह के बच्चों के लिए आवंटित करने का अनुरोध किया है। उन्होने बाल संरक्षण गृह तथा आश्रय स्थल का निरीक्षण भी किया। तीस बच्चों की क्षमता वाले बाल संरक्षण गृह में वर्तमान में 80 बच्चे रह रहे है।
उन्होने कहा कि बाल अपचारियों/अनाथ बच्चों के साथ मानवीय संवेदना के दृष्टिगत योजना का लाभ दिलाना है जिससे उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े।
संरक्षण गृह के अधीक्षक अविनाश पटेल ने बताया कि यहाॅ निर्धारित 30 के सापेक्ष 80 अपचारी किशोर रह रहे है। अपचारी किशोरों से बातचीत के क्रम में मा0 सदस्या ने डीपीओ अनुपम यादव को निर्देशित किया कि निर्धारित क्षमता से अधिक किशोर अपचारी यहाॅ निरूद्ध है यह स्थिति ठीक नहीं है। शीघ्रातिशीघ्र नये भवन को किराये पर लेकर अपचारियों की संख्या मानक के अनुरूप रखी जाय।
उन्होंने अधीक्षक को निर्देश दिया कि कोविड-19 के गाइडलान का कड़ाई से अनुपालन करायें। स्वच्छता एवं सफाई पर विशेष ध्यान दें। सामाजिक दूरी बनाये रखें तथा खान-पान की व्यवस्था मे सुधार लायें। इस अवसर पर फार्मासिस्ट अमरेन्द्र चैधरी, सुनीता देवी, ह्रदय राम व अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।