Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
समय से समस्याओं का निराकरण कर हम लोगो की कर सकते है वास्तविक सेवा: गोविंदराजू एन.एस. थाना समाधान दिवस पर डीएम,एसपी ने की जनसुनवाई नवागत मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्र ने मण्डलायुक्त पद का ग्रहण किया कार्यभार सांसद ने किया खेल महाकुंभ तैयारियों का निरीक्षण हर मोड़ पर खरा उतर रहा है भारतीय संविधान-डा. वी.के. वर्मा बाबा साहब के बनाये संविधान को ध्वस्त करना चाहती है केन्द्र व प्रदेश सरकार: प्रेमशंकर द्विवेदी संविधान दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग

कोरोना काल मे जान गवांने वाले पत्रकारों के परिजनों को मिला 10.10 लाख रूपये की आर्थिक सहाययता

प्रदेश सरकार का पत्रकारों के प्रति सराहनीय कदम

कबीर बस्ती न्यूज,लखनऊ

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा जिले के मान्यता प्राप्त पत्रकार स्व. अनिल श्रीवास्तव की धर्मपत्नी श्रीमती वंदना श्रीवास्तव तथा स्व. श्रीमती सुशीला देवी के पुत्र सतीश मानव को लोक भवन लखनऊ में 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की गई। उल्लेखनीय है कि दोनों पत्रकारों की मृत्यु कोविड से हुई थी। इस अवसर पर न्यूज़ ब्रॉडकास्टिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष रजत शर्मा, मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, सूचना निदेशक शिशिर तथा तीनों मीडिया सलाहकार, उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संघ के अध्यक्ष एवं पदाधिकारीगण, पीड़ित परिवारों के सदस्य तथा पत्रकारगण उपस्थित रहे। सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापन मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव संजय प्रसाद ने किया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पत्रकार लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में स्थापित हैं। समाज एवं देश के निर्माण में उनका महत्वपूर्ण योगदान है। करोना काल में भी उन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए समाज को जागरूक करने, कोरोना से सुरक्षा एवं बचाव के लिए समाचार संकलन करने में अपना योगदान किया। इस दौरान हमारे कुछ साथी कोरोना से पीड़ित भी हुए लेकिन उन्होंने अपना अभियान खत्म नहीं किया। उन्होंने पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना के कारण अपनी जान गवाने वाले पत्रकारों के योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना से माता-पिता दोनों को खोने वाले ऐसे लगभग 200 बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य एवं उनके भरण-पोषण के लिए रू0 4000 प्रतिमाह की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू की गई है। इसके अलावा माता-पिता में से कोई एक को कोरोना के कारण खोने पर भी बच्चों की आर्थिक सहायता की जा रही है। उन्होंने कहा कि भविष्य में हम अन्य योजनाएं भी संचालित करेंगे।
अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि इस कार्यक्रम में 50 पत्रकारों के पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता रुपया 5.50 करोड़ प्रदान किया जा रहा है। जिला सूचना कार्यालय, पत्रकार संगठनों या अन्य माध्यम से भविष्य में प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों को स्वीकार करते हुए उन्हें भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
कार्यक्रम के प्रारंभ में सभागार में सभी अतिथियों, पत्रकारों ,अधिकारियों द्वारा खड़े होकर दिवंगत पत्रकारों की याद में श्रद्धांजलि देते हुए 2 मिनट का मौन भी रखा गया।