Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लगातार चौथी बार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रेमशंकर द्विवेदी 08 अक्टबूर को लखनऊ जायेंगे कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु सपा समर्थको ने किया हवन जयंती पर आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को किया नमन् उपेक्षित प्रतिमा को विकसित करने की मांग   आचार्य रामचन्द्र शुक्ल को जयंती पर किया नमन गायत्री शक्तिपीठ पर महानवमी के दिन किया गया हवन, पूजन पुलिस अधीक्षक ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच किया बहादुरपुर पुलिस चौकी का उद्घाटन गैंगरेप का 1 आरोपी डाक्टर गिरफ्तार, दो अभी भी फरार सवारियां बिठा कर जा रही दो ट्रैक्टकर ट्राली समेत 3 वाहन सीज गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पद से बर्खास्त करने की मांग

शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति की मांग को लेकर मेधा ने सौंपा ज्ञापन

छात्र वृत्ति में आय सीमा बढाने की मांग

कबीर बस्ती न्यूज,बस्ती।उ0प्र0।

सोमवार को मेधा पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दीन दयाल त्रिपाठी के नेतृत्व में पदाधिकारियों और सदस्यों ने छात्रों को शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति दिये जाने की मांग को लेकर जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारी के माध्यम से राज्यपाल और मुख्यमंत्री को 3 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन सौंपते हुये दीन दयाल त्रिपाठी ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार  अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति की भांति सामान्य, पिछड़े वर्ग के छात्रों को शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति दिये जाने का प्राविधान है। उत्तर प्रदेश में वर्ष 2017 से ही अनेक पात्र छात्र  दशमोत्तर शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति से वंचित है। उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अनुसूचित जाति एवं जनजाति केे पात्रता की आय सीमा ढाई लाख रूपये निर्धारित की गई है जबकि सामान्य, पिछड़े वर्ग के छात्रों की आय सीमा दो लाख रूपये निर्धारित है। ऐसी स्थिति में सामान्य, पिछड़े वर्ग के छात्रों की आय सीमा भी सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार ढाई लाख रूपये वार्षिक किया जाय। जो छात्र पिछले 4 वर्षो से शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति से वंचित हैं उन्हें प्राथमिकता के स्तर पर सुविधा से लाभान्वित किया जाय। मांगे न मानी गई तो मेधा सत्याग्रह करने को बाध्य होगी।
ज्ञापन में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति की भांति  सामान्य, पिछड़े वर्ग के छात्रों, पात्र वंचितों को शुल्क प्रतिपूति,छात्रवृत्ति दिलाये जाने, सामान्य, पिछड़े वर्ग के छात्रों की आय सीमा भी सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार ढाई लाख रूपये वार्षिक किये जाने,  वर्ष 2017 से 2021 तक  शुल्क प्रतिपूति, छात्रवृत्ति से वंचित पात्रों को लाभान्वित कराये जाने आदि की मांग शामिल है।
राज्यपाल, मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से उमेेश पाण्डेय ‘मुन्ना, कलामुद्दीन, राहुल तिवारी, अभिषेक, प्रमोद पाण्डेय, गुड्डू मिश्र, प्रतीक मिश्र, गिरिराज गिरी, अजीजुर्रहमान, सचिन पाण्डेय  आदि शामिल रहे।