Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
.......तो क्या... योगी राज मे गैंगरेप की शिकार अर्धविक्षिप्त युवती को मिल सकेगा न्याय ? नगर पुलिस व एन्टी व्हीकल थेफ्ट टीम की संयुक्त कार्यवाही में 3 क्विंटल 17.260 किलोग्राम गांजा के साथ ... फर्जी समूह बनाकर धोखा-धड़ी करके जमाकर्ताओं के धन हड़पने वाले 06 अभियुक्त गिरफ्तार एनटीपीसी ने सौंपा एसी एंबुलेंस एवं शव वाहन डा. वी.के. वर्मा ने स्वास्थ्य परीक्षण कर वृद्ध जनों में किया फल, मिष्ठान्न का वितरण अन्याय पर न्याय के विजय का पर्व है नवरात्रि - संजय चौधरी दो ऑक्सीजन गैस प्लांट का फीता काटकर किया गया उद्घाटन नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य प्रारम्भ फ्री बिजली गारंटी पदयात्रा निकालेगी आपः सभाजीत सिंह त्योहारों को लेकर सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक, डीएम ने दिए निर्देश

राजीव गाॅधी किसान न्याय योजना के तीसरे किश्त के रूप में 116 करोड़ 60 लाख रुपये जारी, जिले के 1लाख 50 हजार से अधिक किसान हुए लाभांवित

बलौदाबाजार,4 नवम्बर 2020/ राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक राजीव गाॅधी किसान न्याय योजना क्रियान्वयन के अतंर्गत तीसरे किश्त के रूप में 116 करोड़ 60 लाख 91 हजार रुपये जारी कर दिये है।इससे जिले के 1 लाख 50 हजार 298 किसान लाभांवित लाभांवित हुए है।लगभग जिले के खतों में खरीफ की फसल तैयार हो गया है। फसल की कटाई में भी किसान अब आधुनिक उपकरणों का उपयोग कर रहे है। तैयार फसल को किसान अपने घर मे सुरक्षित स्थनों के साथ कुछ किसान उसे अपने ब्यारा एवं कोठार मे ले जा रहें है। राज्य सरकार द्वारा बोनस सहित 2500 प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी से किसानों में बहुत ही उत्साह है। प्रदेश के मुखिया श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में किसानों के अतिरिक्त लाभ एवं मदद के लिए जिस दूरगामी सोच को लेकर राजीव गांधी किसान न्याय योजना की जो शुरूआत किया गया है। वह निश्चित ही अपने उद्देश्यों की ओर बढ़ रहा है। इस विपदा,कोरोना के संकट काल मे किसानों को धान के अंतर का राशि का मिलना एक बड़ी राहत प्रदान कर रहा है। इस समय एक किसान अपना सभी पूँजी लगाकर फसल को बेचने की तैयारियों में लग जाते। यह एक बेहत कठिन समय रहता है। इसके साथ ही आने वाले कुछ दिनों में त्यौहारो का मौसम आने वाला है। इस समय मे बोनस का राशि मिलना सभी किसानों के लिए बड़ी राहत है। इसके साथ इस राशि का उपयोग आने वाले रबी फसलों की तैयारी में एवं उनके साथ बीज खरीदी आदि में उपयोगी साबित हो रही है।

राजीव गाॅधी किसान न्याय योजना के तहत् जिले के बलौदाबाजार विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम धवई नयापारा निवासी किसान राम चन्द्र धृतलहरें को तीसरे किश्त की राशि 12 हजार 9 सौ रूपए मिलने पर वह मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रति आभार जताया। राम चन्द्र धृतलहरें
ने बताया कि वह वर्ष 2019-20 में धान उपार्जन केन्द्र में 164 कट्टा लगभग 65 क्विंटल धान बेचा था।
श्री धृतलहरें ने बताया कि मुझे राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत् लगभग 51 हजार रूपये की सहायता राशि चार किश्तों में मिलेगी। जिसमें से
प्रथम किश्त एवं दूसरे किश्त के बाद तीसरे किश्त भी की भी राशि 12 हजार 9 सौ रूपए मेरे बैंक खाते में आ गया है। उन्होंने आगें बताया कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत प्राप्त सहायता राशि का उपयोग आगामी रबी सीजन के खेती-किसानी की तैयारी करने में बहुत मदद मिलेगी। इस विषम परिस्थिति में खाद,बीज आदि की व्यवस्था करने में अब आसानी होगी उन्होंने बताया की इस राशि का मैं कुछ पैसा टैक्टर मालिक एवं कृषि दुकान वाले को दूंगा। उन्होंने बेहद प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ शासन ने किसानों की समस्याओं को समझा और इस कठिन परिस्थिति में राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत आर्थिक मदद देकर एक सच्चे साथी की भूमिका पूरी किया है। उसी तरह बालौदाबाजार तहसील के अतंर्गत ग्राम लटुवा निवासी 61 वर्षीय मारखण्डे कन्नौजे ने बताया की वह लोग दो भाई है। घर के पैतृक सम्पत्ति से 12 एकड़ खेत में फसल बोने का काम करते है। हमने लटुवा सोसायटी में ही 180 क्विंटल धान बेचा था। अभी हमारे खाते में बोनस के रूप में लगभग 30 हजार रूपये आये है। जो इस कठिन समय मे बड़ी मदद है। इस राशि का उपयोग आने वाले समय मे खेती बाड़ी की तैयारियों में करेंगे। यह सरकार किसानों के हित मे सोचने वाली सरकार है। आगें भी मुख्यमंत्री 2500 क्विंटल की दर से ही धान खरीदी करते रहे। इससे निश्चित ही किसानों की आर्थिक विकास में मदद मिलेंगी।
गौरतलब है की राज्य निर्माण दिवस के मौके पर 1 नवम्बर को राजीव गाँधी किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त जारी किया गया है। जिला सहकारी बैक के नोडल अधिकारी धनराज पुरबिया ने बताया की राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 50 हजार 298 किसानों को बोनस के रूप में कुल 444 करोड़ 20 लाख 98 हजार रुपये का अतिरिक्त फायदा होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.