Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
लंदन की डिग्री, गोल्ड मेडल से सम्मानित हुये डा. वी.के. वर्मा वंचित छात्रों को शुल्क प्रतिपूर्ति, छात्रवृत्ति दिलाने की मांग को लेकर पद यात्रा निकालेगी मेधा सफाई कर्मचारी संघ: डीपीआरओ को सौंपा 12 सूत्रीय ज्ञापन, समस्याओं के निस्तारण की मांग पीएम आयुष्मान योजना: पहले से बना था कार्ड, मिला आयुष्मान का वरदान आदर्श पौधशाला तथा राजकीय सार्वजनिक उद्यान चंगेरवा का डीएम ने किया निरीक्षण डीएम के निर्देश पर रूधौली तहसील मे चला बृहद अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान डीएम ने दिया वाल्टरगंज चीनी मिल के कर्मचारियों का वेतन दिलाने का आश्वासन बीआरसी में तीन दिवसीय टीएलएम निर्माण कार्यशाला शुरू संविदा कर्मियों से परिषदीय शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों की जांच का मामला गरमाया गांव – गांव में परिवार नियोजन की अलख जगा रहा है सारथी वाहन

73 सालों में पहली बार होगी किसी महिला की फांसी

नई दिल्लीः दिल्ली के निर्भया कांड के चार दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला जल्लाद पवन अब अमरोहा की शबनम को फांसी देगा। शबनम ने 2008 में अपने प्रेमी की मदद से घर के सात लोगों को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया था। शबनम की फांसी का फैसला हो चुका है लेकि तारीख मुकर्रर नही है। आजादी के 73 सालों में पहली बार ऐसा होना जा रहा है जब किसी महिला को फांसी पर लटकाया जायेगां।

फांसीघर को लेकर मेरठ के पवन जल्लाद ने बताया कि वह बेहद जीर्ण और शीर्ण हालत में था. जिस तख्ते पर खड़ा करके दोषी को फांसी दी जाती है वह भी टूटा हुआ था. पवन के अनुसार उसे अब बदलवा दिया गया है। वहीं उन्होनें कहा कि लीवर की खिंचाई भी ठीक से नहीं हो रही थी तो तेल लगवाकर लीवर को अब नरम कर दिया गया है. पवन जल्लाद का कहना है कि मथुरा जेल का फांसीघर पूरी तरह से तैयार हो गया है। मथुरा जेल को लेकर खास बात यह है कि पहली बार यहां किसी महिला को फांसी दी जाएगी. मथुरा में स्थित इस महिला फांसीघर को करीब 150 साल पहले स्थापित किया गया था।