Logo
ब्रेकिंग न्यूज़
मातृ शिशु स्वास्थ्य सेवाओं के लिए वरदान है एमसीपी कार्ड नवजात शिशु में जन्‍मजात विकृतियों को दूर करता है फोलिक एसिड गुरू जी की अकड पडी ढीली कर दिए गये निलम्बित दहेज उत्पीड़न के दो मामलों में 10 ससुरालियों पर केस पेन्शनर एसोसिएशन की बैठक 5 को पुरानी पेशन नीति बहाली की मांग को लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेगे शिक्षक युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य एवं जीवन कौशल पर विशेष कार्यशाला का शुभारम्भ इलाज के दौरान समझा टीबी मरीजों का दर्द,  अब बने मददगार  नोडल अधिकारी नीना शर्मा ने रुधौली ब्लाक में चौपाल लगाकर सुनीं समस्याऐ जिले की नोडल अधिकारी के निरीक्षण में सब कुछ मिला गुड ही गुड

मास्क नही लगा रहे हैं लोग, फिर लग सकता है लाकडाउन

नेशनल डेस्कः कोरोना वायरस के संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में एक बार फिर संकट दिखने लगा है। यहां लोग जरूरी एहतियात नही बरत रहे हैं। अब रोजाना तीन हजार से ज्‍यादा मामले सामने आ रहे हैं. मुंबई के आंकड़े भी डराने वाले हैं. इस बीच, मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि अगर लोग दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करेंगे तो मजबूरी में लॉकडाउन लगाना पड़ेगा।

उन्होने कहा कि महाराष्‍ट्र और मुंबई में कोरोना के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी है. ट्रेनों में यात्रा करते समय ज्‍यादातर लोग मास्‍क नहीं लगा रहे हैं. लोकल ट्रेनों में इतनी भीड़ होने के बावजूद लोग मास्‍क का उपयोग नहीं कर रहे हैं. लोगों को अभी कोरोना के नियमों का पालन करना चाहिए. लोग नियमों का पालन नहीं करेंगे तो हम एक और लॉकडाउन की तरफ आगे बढ़ेंगे. लॉकडाउन को फिर से लागू किया जाए या नहीं यह लोगों के हाथ में है। पिछले कुछ समय से महाराष्‍ट्र में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या काफी कम हो गई थी. महाराष्ट्र में रविवार को 4,092 नए मामले सामने आए थे. संक्रमण के मामलों में जारी वृद्धि के बीच राज्य सरकार ने ’’सख्त निर्णय’’ लिए जाने को लेकर आगाह किया है।